नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली यातायात पुलिस ने सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों को रोकने के लिए अनूठी पहल की है। जिस तरह पुलिस बड़े अपराधियों और टाप गैंगस्टर की सूची तैयार करती है, ठीक उसी तरह यातायात पुलिस भी सड़कों पर चलने वाले सौ खतरनाक चालकों की सूची तैयार करने जा रही है। इनमें जो टाप-10 में आएगा उसका लाइसेंस भी रद किया जा सकता है। इन खतरनाक चालकों की पहचान कर उन्हें सड़क सुरक्षा का पाठ भी पढ़ाया जाएगा।

इसमें पुलिस चालकों के 10-10 के समूह बनाकर ट्रैफिक पार्को में बुलाकर यातायात नियमों का पालन करने की सीख दी जाएगी और यातायात नियमों के बारे में वीडियो व अन्य माध्यम से बताया जाएगा। सयुंक्त पुलिस आयुक्त, यातायात (आपरेशंस ) मीनू चौधरी ने बताया कि जिन लोगों को रेड लाइट तोड़ने, गति सीमा का उल्लंघन करने, शराब पीकर वाहन चलाने समेत अन्य नियमों का उल्लंघन करने का चालान सबसे अधिक किया गया है, उनमें से सौ चालकों को सूची में शामिल किया जाएगा।

उनकी पहचान के बाद उनके घर पर पत्र भेजा जाएगा और नियमों को बताने के लिए यातायात पुलिस के पार्को में बुलाया जाएगा। वहां पर उन्हें सड़क सुरक्षा का पाठ पढ़ाया जाएगा। इसके बाद भी यदि वे नियमों का उल्लंघन करते पाए जाते हैं तो उनका लाइसेंस रद कर दिया जाएगा। अधिकारी ने बताया कि यदि चालक पत्र भेजने के बाद चालक कोई जवाब नहीं देते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि वर्ष 2020 में एक हजार से अधिक लोगों की सड़क हादसों में मौत हुई थी और पांच सौ से अधिक लोग सड़क हादसों में घायल हुए थे।

Edited By: Pradeep Chauhan