नई दिल्‍ली, एएनआइ। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी कृष्‍ण रेड्डी ने निर्भया मामले में दोषियों को देरी से फांसी दिए जाने के बारे में कहा कि सारे ऐसे रास्‍ते बंद किए जाएंगे जिससे कोई भी गुनहगार कानून का बेजा इस्‍तेमाल नहीं कर सकेगा। इंडियन पीनल कोड (भारतीय दंड संहिता) के सारे ऐसे उपायों को खत्‍म किया जाएगा जो निर्भया मामले में सामने आए हैं। ऐसे क्राइम के मामले में तुरंत सजा को प्रावधान होगा। इसलिए भारत सरकार आइपीसी और क्रिमिनल सीआरपीसी (आपराधिक प्रक्रिया संहिता) में कुछ परिवर्तन किया जाएगा।

सिस्‍टम की गड़बड़ी की तरफ इशारा

इधर दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी देरी से सजा दिए जाने पर सिस्‍टम की गड़बड़ी की तरफ इशारा किया है। केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से देखा गया कि फांसी की सजा मिलने के बाद भी दोषी पूरे सिस्टम का मजाक उड़ाकर फांसी को टलवाते रहे। इस पूरी प्रकिया में सात साल से ज्‍यादा का वक्‍त लग गया है।

गलत काम करने वालों को मिला प्रोत्‍साहन

केजरीवाल ने फांसी टलने को सिस्टम में कमी माना। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे गलत काम करनेवालों को प्रोत्साहन मिलता है। उन्‍होंने कहा कि मुझे लगता है कि आज के दिन संकल्प करें कि दूसरा ऐसा नहीं होगा। उन्‍होंने पुलिस सिस्टम ठीक करने की जरूरत बताई। पुलिस जांच में चीजें सुधरनी चाहिए। न्यायिक व्यवस्था सुधरे ताकि सात साल नहीं 6 महीने मे फांसी हो पाए। केजरीवाल ने आगे कहा कि दिल्ली सरकार अपनी हर जिम्मेदारी निभाने को तैयार है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस