नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राजधानी में धीमे टीकाकरण अभियान पर दिल्ली सरकार को कठघरे में खड़ा किया तो वहीं दिल्ली सरकार ने भी पलटवार करते हुए केंद्र को घेरने की कोशिश की। अभियान को लेकर मंगलवार को दिनभर दिल्ली सरकार व केंद्र के बीच ट्विटर वार चलता रहा। हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर कहा कि देशभर में सोमवार को 84 लाख लोगों को कोरोना प्रतिरोधक टीका लगाया गया, लेकिन दिल्ली सरकार ने मात्र 76,259 टीके लोगों को लगाए। इतना कम टीकाकरण तब हुआ जब दिल्ली में 11 लाख डोज उपलब्ध हैं। पुरी ने ट्वीट कर सवाल किया कि दिल्ली सरकार का टीकाकरण अभियान धीमा क्यों है?

इस पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने हरदीप सिंह पुरी के सवालों का जवाब देते हुए कहा है कि केंद्र सरकार युवाओं के वैक्सीनेशन की पर्याप्त डोज उपलब्ध कराए। केंद्र सरकार की फ्लाप टीकाकरण नीति ने देशभर में परेशानी पैदा कर दी है। इस ट्वीट के बाद हरदीप सिंह पुरी व मनीष सिसोदिया समर्थकों ने भी एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की झड़ी लगा दी।

 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कम डोज मुहैया कराने के आरोप को किया खारिज

दिल्ली सरकार ने केंद्र पर राजधानी को वैक्सीन की कम डोज मुहैया कराने का आरोप लगाया था, जिसे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सिरे से खारिज कर दिया है। मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि कोटे के तहत दिल्ली को 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए 21 जून तक 5.6 लाख डोज की आपूर्ति की जा चुकी है।

वहीं केंद्रीय आपूर्ति के तहत 8.8 लाख डोज की आपूर्ति भी इसी आयु वर्ग के लिए की गई है। दिल्ली को और ज्यादा डोज की आपूर्ति जल्द संभव है। मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि 21 जून के बाद सभी आयु वालों को एक ही वर्ग माना जाएगा व दिल्ली के सभी टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन की आपूर्ति की जाएगी।

Edited By: Mangal Yadav