Move to Jagran APP

DU में हिंदू अध्ययन करने के लिए दो कोर्स होगा शुरू, मंजूरी का बस इंतजार; इस तारीख को होगी बैठक

दिल्ली विश्वविद्यालय जल्द ही स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को हिंदू अध्ययन करने के लिए दो जेनरिक इलेक्टिव कोर्स शुरू करने वाला है। इस संबंध में 12 जुलाई को होने वाली अकादमिक परिषद की बैठक में फैसला होगा। ये दोनों पेपर सामान्य छात्रों के लिए होंगे। हिंदू विचारक को दो भागों में बांटा गया है। इस लेख के माध्यम से जानिए पूरी खबर।

By Jagran News Edited By: Monu Kumar Jha Tue, 09 Jul 2024 10:41 AM (IST)
DU Two generic courses: हिंदू अध्ययन के लिए दो जेनरिक इलेक्टिव कोर्स शुरू करेगा डीयू। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। डीयू में स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को हिंदू अध्ययन करने के लिए दो जेनरिक इलेक्टिव कोर्स शुरू किए जाएंगे। हिंदू जीवन दृष्टि और हिंदू मनोविज्ञान पेपर की पढ़ाई स्नातकोत्तर का कोई भी छात्र कर सकेगा। इसके अलावा हिंदू अध्ययन केंद्र के छात्रों के लिए डीयू ने छह जेनरिक इलेक्टिव पेपर शुरू किए हैं।

12 जुलाई को होगी अकादमिक परिषद की बैठक

इन विषयों को 12 जुलाई को होने वाली अकादमिक परिषद की बैठक में रखा जाएगा। हिंदू अध्ययन केंद्र की प्रोफेसर प्रेरणा मल्होत्रा ने बताया कि छात्र हिंदू विषयों को पढ़ने की इच्छा जता रहे थे, इसलिए दो पेपर शुरू किए गए हैं। एक पेपर हिंदू जीवन दृष्टि में पर्यावरण को लेकर हिंदू धर्म की समझ, महिलाओं की भूमिका आदि के बारे में बताया जाएगा।

छह पेपर हिंदू अध्ययन केंद्र के छात्रों के लिए शुरू

हिंदू मनोविज्ञान में ग्रंथों और शास्त्रों को बताया जाएगा। साथ ही भगवत गीता में जैसे मन को साधने की शिक्षा दी गई है, उसके बारे में पढ़ाया जाएगा। दोनों पेपर सामान्य छात्रों के लिए होंगे। छह पेपर हिंदू अध्ययन केंद्र के छात्रों के लिए शुरू किए जा रहे हैं।

वे माइनर डिग्री के लिए कंप्यूटर विज्ञान, राजनीतिक विज्ञान जैसे विषय नहीं पढ़ना चाहते थे और हिंदू अध्ययन में अधिक विशेषज्ञता हासिल करना चाहते थे। इसलिए वैदिक वांग्मय का परिचय, पुराण परिचय, उपनिषद परिचय, भगवत गीता, हिंदू विचारक, धर्म का समकालीन अध्ययन यह छह पेपर शुरू किए जा रहे हैं।

हिंदू विचारक को बांटा गया दो भागों में

हिंदू विचारक को दो भागों में बांटा गया है। इसमें एक भाग में प्राचीन विचारकों जैसे भर्तृहरि, पतंजलि, आचार्य शंकर, रामानुजाचार्य आदि को शामिल किया गया है। दूसरे में आधुनिक विचारकों जैसे दयानंद, स्वामी विवेकानंद, अरबिंदो और बाल गंगाधर तिलक आदि को शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें: Delhi Weather Update: यलो अलर्ट के बावजूद नहीं हुई वर्षा, अगले एक सप्ताह ऐसा रहेगा राजधानी का मौसम