नई दिल्ली, जेएनएन। पश्चिमी विक्षोभ के कारण दिल्ली में मंगलवार को एक बार फिर बादल छाए रहेंगे। हालांकि बारिश की संभावना नहीं हैं। तापमान में इजाफे का दौर भी लगातार जारी रहेगा। मौसम विभाग का कहना है कि गर्मी अब लगातार बढ़ेगी।

सोमवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 30.0 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 15.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बारिश के नहीं हैं आसार

प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि मंगलवार को दिल्ली में दिनभर बादल छाए रहेंगे। बीच-बीच में हवा भी चल सकती है, लेकिन बारिश के आसार नहीं के बराबर हैं। आने वाले दिनों में तापमान में तेजी से वृद्धि होगी। संभावना है कि अप्रैल के अंतिम सप्ताह में दिल्ली का तापमान 42 डिग्री को छू जाए।

लॉकडाउन के चलते दिल्ली का प्रदूषण हुआ कम

लॉकडाउन के दौरान दिल्ली का प्रदूषण स्तर काफी बेहतर स्थिति में चल रहा है। ऐसा पहली बार हुआ है जब देश के तमाम शहरों का एयर इंडेक्स 100 से भी कम दर्ज हो रहा हो। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जारी एयर बुलेटिन के मुताबिक सोमवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स सिर्फ 71 दर्ज किया गया। एनसीआर के शहरों में फरीदाबाद का 97, गाजियाबाद का 64, ग्रेटर नोएडा का 94, गुरुग्राम का 76 और नोएडा का 61 दर्ज किया गया। सभी जगहों की हवा अच्छी श्रेणी में दर्ज की गई। दूसरी तरफ दिल्ली में पीएम 10 का स्तर 71 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर और पीएम 2.5 का स्तर 31 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा।

फ्लू जैसे रोग का प्रभाव होगा कम

कोरोना वायरस के जारी प्रकोप के चलते तापमान बढ़ने का शिद्दत से इंतजार किया जा रहा है। तमाम लोगों का मानना है कि तापमान बढ़ने से फ्लू जैसे इस रोग का प्रभाव कम होगा। देश के विभिन्न हिस्सों के मौसम में यह बदलाव पश्चिमी विक्षोभ (गड़बडि़यों) के चलते हुआ है। पश्चिमी विक्षोभ भूमध्य सागर से पैदा होता है। इनसे पहाड़ों पर बर्फबारी बढ़ जाती है और उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में वर्षा होती है।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस