नई दिल्ली [ जेएनएन ]। कुख्यात आंतकी आरिज खान उर्फ जुनैद की हरकतें बताती हैं कि वह बेहद शातिर था। उसने बहुत चालाकी से नेपाल में अपने रुकने का ठिकाना बनाया। इसकी खातिर उसने एक नेपाली लड़की को अपनी जाल में फंसाया और उससे निकाह किया, जिससे उस पर कोई शक न करें। दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने बताया कि नेपाल से वह पांच बार भारत आया। बटला हाउस एनकांटर के बाद से वह नेपाल में नाम बदलकर रह रहा था।

इंडियन मुजाहिद्दीन का ब्लास्ट विशेषज्ञ जुनैद इतना शातिर था कि वह भारत आने पर न तो एक स्थान पर ज्यादा देर तक रुकता था और न ही अपने साथ मोबाइल फोन रखता था। वह स्थानीय पीसीओ से लोगों से संपर्क करता था, लेकिन छठी बार भारत आने के क्रम में दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

स्पेशल सेल अधिकारियों की पूछताछ में आरिज ने बताया कि वह भारत आकर कुछ संगठनों और अपने अन्य संपर्कों के साथ बैठकें करता था। उत्तर प्रदेश और बिहार में उसके नेटवर्क से जुड़े पुराने लोग यह बैठकें आयोजित कराते थे। इसके बाद वह तुरंत ही नेपाल चला जाता था।

आरिज भारत में पांच अतिवादी संगठनों के संपर्क में था। सूत्रों के अनुसार आरिज ने कई बार एक ही संगठन के प्रमुखों से तीन-चार बार मुलाकात की बात स्वीकारी है। पुलिस अब उन संगठनों पर नजर रख रही है। बीटेक की पढ़ाई करने के कारण उसे पुलिस की सर्विलांस सहित मोबाइल व तकनीक इत्यादि की खासी जानकारी है।

उसे पता था कि पुलिस सर्विलांस के जरिए उसके पास कैसे पहुंच सकती है। लिहाजा वह बगैर कोई समय बताए अपने नेटवर्क के लोगों और रिश्तेदारों से मिलने उनके शहर जाता था। एक स्थान पर छह घंटे से ज्यादा नहीं रुकता था।

आरिज ने स्पेशल सेल को बताया कि दिल्ली पुलिस सहित अन्य तमाम एजेंसियां उसके पीछे पड़ी थीं। उसे यह डर होता था कि पुलिस कहीं उसके संपर्कों पर तो नजर नहीं रख रही है। इसलिए वह संपर्कों को भी अलग-अलग पीसीओ से ही फोन करता था ताकि उसके लोकेशन की जानकारी पुलिस और एजेंसियों को न लगे सके।

जुनैद को 25 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

दिल्ली की एक अदालत ने इंडियन मुजाहिदीन के आतंकी आरिज खान उर्फ जुनैद को 25 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। बाटला हाउस मुठभेड़ के बाद फरार हुए आतंकी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भारत-नेपाल सीमा के समीप से 13 फरवरी को गिरफ्तार किया था।

भारत में हुए कई विस्फोट के मामले में पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। आतंकी  को बुधवार शाम को अदालत में पेश किया गया था। वहां अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ शर्मा ने जुनैद को 25 दिन के पुलिस हिरासत में भेज दिया। पुलिस अब जुनैद से बटला हाउस एनकाउंटर सहित दिल्ली, यूपी और गुजरात में हुए विस्फोट को लेकर पूछताछ करेगी।

Posted By: Ramesh Mishra