नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। Delhi-Mumbai Expressway: दिल्ली और मुंबई के बीच अगर आप नियमित अंतराल पर सड़क मार्ग के जरिये सफर करते हैं तो यह खबर शुरू से अंत तक पढ़ें, क्योंकि यह बेहद खास है। दरअसल, दिल्ली और मुंबई को एक और सड़क मार्ग से जोड़ने वाले दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के काम को वर्ष 2023 में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सबकुछ ठीक रहा और  8-लेन का एक्‍सप्रेस-वे तैयार हो गया तो आप दो साल बाद अपने वाहन से सिर्फ 12 घंटे का सफर तय करके दिल्ली से मुंबई पहुंच सकेंगे।

देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे होगा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे

आधा दर्जन राज्यों से गुजरने वाला दिल्ली-मुंबई एक्‍सप्रेस-वे देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे होगा। यहां पर यह भी बता दें कि यह केंद्र सरकार की महत्‍वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है।  केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले दिनों राज्यसभा में जानकारी दी कि तमाम बाधाओं के बावजूद दिल्ली-मुंबई एक्‍सप्रेस-वे प्रोजेक्‍ट को जल्‍द से जल्‍द पूरा करने का लक्ष्‍य रखा गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि एक्सप्रेस-वे को 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा।

सिर्फ 12 घंटे में तय होगा दिल्ली से मुंबई का सफर

यह एक्‍सप्रेस-वे दिल्‍ली-मुंबई के बीच की यात्रा के समय को घटाकर करीब आधा यानी कि 12 घंटे कर देगा। ऐसे में इस सड़क मार्ग के जरिये अपने निजी वाहनों से जा सकेंगे। इससे न केवल उनका समय बचेगा, बल्कि लोगों के ट्रेनों पर से निर्भरता भी कम होगा। राजधानी और शताब्दी को छोड़ दें तो ट्रेनों के जरिये दिल्ली-मुंबई का सफर 20 घंटे से अधिक का हो जाता है। ऐसे में ट्रेन की बजाय लोग सड़क मार्ग का विकल्प चुन सकेंगे। इससे उनका समय भी बचेगा। एक्सप्रेस-वे के बनने से दिल्ली से मुंबई सड़क मार्ग की दूरी कम हो जाएगी। वर्तमान में दिल्ली-मुंबई की सड़क से 1450 किलोमीटर की दूरी है। नए एक्सप्रेस-वे से यह दूरी घटकर 1350 रह जाएगी।

एक्सप्रेस-वे के निर्माण का काम तेज गति से जारी

बता दें कि दिल्ली-मुंबई एक्‍सप्रेस-वे के पूरे कॉरिडोर को जनवरी 2023 तक पूरा करने का लक्ष्‍य रखा गया है। इसके साथ यह देश का सबसे लंबा एक्‍सप्रेस-वे होगा, जिसकी लंबाई 1,350 किलोमीटर होगी। केंद्र सरकार के दावे पर जाएं तो 8 लेन के दिल्ली-मुंबई ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे के निर्माण की कड़ी में अब तक 350 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे का काम पूरा कर लिया गया है, जबकि 825 किलोमीटर पर कार्य तेज गति से जारी है। 

जानिये- दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के बारे में अहम बातें

  • दिल्ली-मुंबई ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे के एलाइनमेंट गुरुग्राम के राजीव चौक से शुरू होकर मेवात-कोटा-रतलाम-गोदरा-बड़ोदरा-सूरत-दहिसर होते हुए मंबई में समाप्त होगा।
  • सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के मुताबिक, यह 5 राज्यों के अति पिछड़े व आदिवासी क्षेत्र से होकर गुजरेगा। इससे यहां पर संसाधन जुटाने में आसानी होगी और रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। इनमें मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात और महाराष्ट्र भी शामिल हैं।
  • गुरुग्राम से जयपुर रिंग रोड तक एक्सप्रेस-वे राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 के सामानंतर बनाया जा रहा है।
  •  दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का काम जनवरी 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • देश के सबसे लंबे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे पर तकरीबन सवा लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे।
  • यह एक्सप्रेस-वे एशिया का अपनी तरह का पहला एक्‍सप्रेस-वे होगा, जिसमें जानवरों के गुजरने के लिए ओवरपास होंगे।
  • यह 'ग्रीन एक्‍सप्रेस-वे' भी होगा, क्योंकि इस एक्‍सप्रेस-वे के किनारे पौधारोपण करने के लिए स्‍कूली बच्‍चों को जोड़ा जाएगा।

Edited By: Jp Yadav