नई दिल्ली, जेएनएन। देश की राजधानी दिल्ली में रिश्तों को शर्मसार करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पूर्वी दिल्ली के शाहदरा इलाके में एक बेटे ने संपत्ति की खातिर अपने पिता की हत्या की फिर उसके 50 टुकड़े कर डाले। इसके बाद वह शव के टुकड़ों को चार अलग-अलग बैग में भरकर ले जा रहा था, लेकिन घर के बाहर ही उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मामले का खुलासे होने पर पुलिस प्रशासन के साथ स्थानीय लोगों में भी हड़कंप मचा हुआ है।

दरअसल, बुधवार सुबह फर्श बाजार इलाके में पिता-पुत्र के रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई। शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त कार्यालय से चंद कदमों की दूसरी पर एक घर में बेटे ने पहले गला दबाकर अपने दिव्यांग पिता की हत्या कर दी। इसके बाद चापड़ (बड़ा छुरे) से पिता के शव के छोटे-छोटे टुकड़े कर दिए। वारदात के वक्त बेटे का दोस्त भी मौजूद था।

इसके बाद शव के टुकड़ों को ठिकाने लगाने के लिए बेटे ने उसे एल्युमिनियम फॉइल में लपेटा, फिर उन्हें चार बैगों में भर दिया। घटना के अगले दिन बेटा अपने दोस्त के साथ शव के टुकड़ों को ठिकाने लगाने ही जा रहा था, तभी रिश्तेदारों ने उन्हें पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

आरोपित बेटे की पहचान अमन अग्रवाल (22) और उसके दोस्त आयुष (23) के रूप में हुई है। पुलिस ने टुकड़ों को कब्जे में लेकर जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भेज दिया है। शुरुआती जांच में पुलिस को पता चला कि मृतक संदेश अग्रवाल (50) का पिछले कुछ वर्षों से अपनी पत्नी व बच्चों से संपत्ति का विवाद चल रहा था। इसके चलते बेटे ने वारदात को अंजाम दिया। वारदात के दिन पत्नी, छोटा बेटा और बेटी मनाली घूमने गए थे।

पुलिस के अनुसार, संदेश अग्रवाल परिवार के साथ 522, बड़ा बाजार शाहदरा में रहते थे। परिवार में पत्नी कंचन अग्रवाल, बेटी साक्षी (25), अमन अग्रवाल (22) और छोटा बेटा आयुष अग्रवाल (17) है। आरोपित अमन मेरठ के एक कॉलेज से एलएलबी अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रहा है। मकान के भू-तल पर संदेश की कॉस्मेटिक की दुकान है। उनकी दुकान के बराबर में अमन फुकरे नाम से कैफे (चाइनीज व इंडियन फूड) की दुकान चलाता है। मकान के अपर ग्राउंड फ्लोर पर कंचन अपना ब्यूटी पार्लर चलाती हैं।

आरोप है कि संदेश अग्रवाल को शराब पीने की लत थी। इसके अलावा वह पत्नी व बच्चों के चरित्र पर शक करते थे। परिवार में संपत्ति को लेकर भी विवाद था। इस कारण संदेश घर में परिवार के साथ रहकर भी अलग रहते थे। सोमवार को संदेश व अमन घर पर थे। रात में अमन का दोस्त रास विहार अपार्टमेंट में रहने वाला आयुष आया था।

मंगलवार रात 11 बजे किसी बात को लेकर अमन का पिता से झगड़ा हो गया। कहासुनी के बाद अमन ने पिता का गला घोंट दिया। इसके बाद आयुष वहां से फरार हो गया। पिता के शव को ठिकाने लगाने के लिए अमन कैफे से चापड़ लाया और सिर को धड़ से अलग कर दिया। मंगलवार को अमन ने अपनी दुकान खोली। उसी रात एक बजे अमन ने दोस्त आयुष को फोन कर कार लेकर बुलाया। अमन ने दूसरी मंजिल से एक-एक कर दो बैग उतारा, तभी उन्हें रिश्तेदारों ने पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने दोनों को मौके पर दबोच लिया। पुलिस ने चापड़ और आयुष की हुंडई वर्ना कार भी जब्त कर ली है।

जानिए- क्यों 10 साल बाद चर्चा में है देहरादून का अनुपमा मर्डर, पत्नी के कर डाले थे 72 टुकड़े

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav