गाजियाबाद (जेएनएन)। हिंदी सिनेमा के इतिहास की 70 के दशक की सबसे बड़ी हिट फिल्म 'शोले' में धर्मेंद्र अभिनीत वीरू की भूमिका लोग आज भी नहीं भूले हैं। खासकर बसंती (हेमा मालिनी) से शादी की बात मनवाने के लिए वीरू का पानी की टंकी पर चढ़ जाना और फिर उसके बाद पूरा ड्रामा सबको बेहद पसंद आता है। कुछ ऐसा ही नजारा दिखा दिल्ली से सटे लोनी में।

यहां पर चिरोड़ी गांव में समाजवादी पार्टी (SP) नेता गांव की समस्याओं को लेकर पानी की टंकी पर चढ़ गया। उसने काफी देर तक अधिकारियों के नहीं पहुंचने पर कूदकर आत्महत्या की चेतावनी दी। उनके समर्थकों ने रोड जाम कर हंगामा काटा। एक माह में पेयजल संकट का समाधान कराए जाने के आश्वासन पर सपा नेता नीचे उतरा। गिरफ्तारी के डर से सपा नेता वहां से निकल गया। पुलिस ने मामले की जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

सुबह करीब साढ़े दस बजे सपा नेता और अन्य कार्यकर्ता चिरोड़ी बंथला रोड पर एकत्र हुए। उन्होंने रोड जामकर विरोध प्रदर्शन किया। विरोध के दौरान सपा नेता ने पानी की टंकी पर चढ़कर गांव की पेयजल समस्या, नालों और तालाबों की साफ-सफाई आदि समस्याओं पर रोष व्यक्त किया।

आरोप है कि करीब आठ साल पहले जल निगम ने गांव के लोगों को पानी की सप्लाई देने के लिए टंकी का निर्माण कराया था, लेकिन चार साल से ट्यूबवेल खराब पड़ी है।

इससे लोग पानी को तरस रहे हैं। गांव के लोग सबमर्सिबल और हैंडपंपों पर निर्भर हैं। लम्बे समय से गांव के नालों और तालाबों की सफाई नहीं हुई है। जानकारी मिलने पर पुलिस, खंड विकास अधिकारी वर्षा सिंह मौके पर पहुंचे।

सभी ने एक माह में ट्यूबवेल ठीक कराकर पेयजल आपूर्ति बहाल कराने का आश्वासन देकर सपा नेता को नीचे उतारा। गिरफ्तारी के डर से सपा नेता वहां चुपके से निकल गया। सीओ दुर्गेश कुमार सिंह का कहना है कि घटना को अधिकारियों के संज्ञान में डाल दिया गया है। 

Posted By: JP Yadav