नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। वसंत विहार एसडीएम ने कोविड प्रोटोकाल के उल्लंघन के चलते सरोजनी नगर मार्केट के एक्सपोर्ट मार्केट को 18 जुलाई से अग्रिम आदेश तक बंद करने के निर्देश दिए थे। एसडीएम के आदेश पर मार्केट एसोसिएशन ने विरोध जताया है। मार्केट एसोसिएशन ने सोमवार को नई दिल्ली एडीएम के साथ बैठक की लेकिन बैठक बेनतीजा रही है। बाजार सील करने के विरोध में एसोसिएशन ने पूरी बाजार बंद रखने का निर्णय लिया है।

सरोजनी नगर मिनी मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक रंधावा ने बताया कि प्रशासन बाजारों पर आक्रामक कार्रवाई कर रहा है। नौ जुलाई को एडीएम नई दिल्ली के साथ उनकी बैठक हुई थी जिसमें पटरी दुकानदारों को अनुमति न देने की बात कही गई थी। लेकिन बाजार में बाडी हाकर और पटरी दुकानदार लगातार बिक्री कर रहे हैं जिससे बाजार में शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं हो पाता है। सोमवार को सरोजनी नगर मार्केट दुकानदारों ने सोमवार को बैठक कर पूरी बाजार बंद रखने का निर्णय लिया है। जब तक जिला प्रशासन एक्सपोर्ट मार्केट को खोलने का आदेश नहीं देगा तब तक पूरी बाजार बंद रहेगी।

दाल की भंडारण सीमा बढ़ाने से विक्रेताओं को मिलेगी राहत: प्रवीन खंडेलवाल

उधर, कंफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि दाल की भंडारण सीमा को बढ़ाने से देश के लाखों विक्रेताओं को राहत मिलेगी। केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने थोक व्यापारियों के लिए दालों की भंडारण सीमा 200 टन से बढ़ाकर 500 टन कर दिया है।

उन्होंने बताया कि कैट ने रविवार को ही गोयल से वीडियो कांफ्रेंस में अनुरोध किया था कि उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की दो जुलाई की अधिसूचना के बाद देश के दाल व्यापारियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उस आदेश में दालों की भंडारण सीमा थोक विक्रताओं के लिए 200 टन और खुदरा विक्रेताओं के लिए पांच टन तय किया गया था। खंडेलवाल ने कहा कि उस अनुरोध पर कुछ ही घंटों में केंद्रीय मंत्री ने यह त्वरित निर्णय लिया है जिससे लाखों दाल व्यापारियों को राहत मिलेगी।

Edited By: Mangal Yadav