Move to Jagran APP

Namo Bharat Train: नमो भारत को लेकर बड़ी खबर, दिल्ली से मेरठ तक RRTS कॉरिडोर तैयार; जानिए कब से दौड़ना शुरू करेगी ट्रेन

करीब 82 किमी लंबा दिल्ली- गाजियाबाद- मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर (RRTS Corridor) अब लगभग पूरा हो चुका है। इसके साथ ही दिल्ली में सभी आरआरटीएस स्टेशनों का निर्माण कार्य भी तेजी से जारी है और सभी स्टेशन आकार ले चुके हैं। दिल्ली में आरआरटीएस कॉरिडोर की कुल लंबाई करीब 14 किमी है। इसमें से नौ किमी का हिस्सा एलिवेटेड है और पांच किमी का हिस्सा भूमिगत है।

By sanjeev Gupta Edited By: Geetarjun Sun, 26 May 2024 09:59 PM (IST)
नमो भारत को लेकर बड़ी खबर, दिल्ली से मेरठ तक RRTS कॉरिडोर तैयार।

संजीव गुप्ता, नई दिल्ली। करीब 82 किमी लंबा दिल्ली- गाजियाबाद- मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर (RRTS Corridor) अब लगभग पूरा हो चुका है। इसके साथ ही दिल्ली में सभी आरआरटीएस स्टेशनों का निर्माण कार्य भी तेजी से जारी है और सभी स्टेशन आकार ले चुके हैं।

दिल्ली में आरआरटीएस कॉरिडोर की कुल लंबाई करीब 14 किमी है। इसमें से नौ किमी का हिस्सा एलिवेटेड है और पांच किमी का हिस्सा भूमिगत है। ये दोनों सेक्शन अब लगभग तैयार हो चुके हैं। दिल्ली में वायाडक्ट निर्माण कार्य पूर्ण होने से सराय काले खां से लेकर मेरठ के शताब्दी नगर तक लगभग 57 किमी के एलिवेटेड हिस्से में वायाडक्ट निर्माण पूर्ण हो जाएगा।

दिल्ली में तीन स्टेशन, ट्रैक बिछाने का काम जारी

दिल्ली सेक्शन में सराय काले खां, न्यू अशोक नगर और आनंद विहार (भूमिगत) तीन आरआरटीएस स्टेशन हैं, जहां फिनिशिंग कार्य प्रगति पर है। इसके साथ ही न्यू अशोक नगर स्टेशन से साहिबाबाद के बीच इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन एवं सिग्नलिंग कार्यों के साथ-साथ ट्रैक बिछाने की गतिविधियां जारी हैं।

दिल्ली में साल के अंत तक काम पूरा

दिल्ली सेक्शन का निर्माण इस साल के अंत तक पूर्ण होने की उम्मीद है, जिसके बाद दिल्ली सेक्शन में भी नमो भारत ट्रेनों का ट्रायल रन शुरू किए जाएंगे और फिर एनसीआरटीसी ट्रेनों का संचालन आरंभ करने की दिशा में अग्रसर होगी।

वायाडक्ट के निर्माण में कई चुनौतियां

अधिकारियों के अनुसार, दिल्ली सेक्शन में वायाडक्ट के निर्माण के दौरान राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) के समक्ष कई तकनीकी चुनौतियों आई, जिनका सफलतापूर्वक निदान किया गया है। इन चुनौतियों में दिल्ली के अत्यधिक भीड़भाड़ वाले इलाकों में निर्माण गतिविधियों को क्रियान्वित करना, लंबे स्पेशल स्टील स्पैन का उपयोग करके बारापुला फ्लाईओवर को पार करना, यमुना नदी ब्रिज का निर्माण करना और गाज़ीपुर नाले को पार करने के लिए कोंडली चौक पर छह स्टील स्पेशल स्पैन स्थापित करना शामिल है।

सराय काले खां स्टेशन को वीर हकीकत राय आईएसबीटी, हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन और दिल्ली मेट्रो पिंक लाइन जैसे समीप के परिवहन साधनों के साथ सहज एकीकरण के लिए डिजाइन किया गया है।

अगले साल फरवरी तक दौड़ने लगी ट्रेन

एनसीआरटीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इसी साल अक्टूबर माह तक नमो भारत का सराय काले खां तक ट्रायल रन शुरू हो जाएगा। इसके बाद जनवरी या फरवरी 2025 तक यह ट्रैक दिल्ली से मेरठ तक दौड़ने लगेगी। हालांकि दिल्ली में नमो भारत चलाने का लक्ष्य जून 2025 तक रखा गया है। लेकिन फरवरी 2025 में दिल्ली विधानसभा चुनाव होने के मद्देनजर ट्रेन को उससे पहले हरी हरी झंडी दिखाई जा सकती है।