नई दिल्ली, स्वदेश कुमार। शाहदरा और आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर तैनात रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने आइआरसीटीसी (भारतीय रेलवे खान-पान एवं पर्यटन निगम) की टीम के साथ मिलकर दो दलालों को गिरफ्तार किया है। ये दलाल अब तक रेलवे के करीब एक करोड़ साठ लाख रुपये मूल्य के ई-टिकट बुक कर चुके हैं।

इनकी पहचान चकिया, मुजफ्फरपुर (बिहार) निवासी नमन कुमार कनोडिया (24) और शकरपुर, दिल्ली निवासी सोनू (22) के रूप में हुई है। दोनों के लैपटॉप और मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं। रेल टिकट के लिए नमन आइआरसीटीसी के 63 और सोनू 65 अकाउंट (यूजर आइडी) का इस्तेमाल करते थे। इन सभी 128 अकाउंट को बंद कर दिया गया है।

शुक्रवार देर शाम सूचना मिली थी कि सीलमपुर मेट्रो स्टेशन पर नमन ग्राहकों को टिकट देने के लिए पहुंच रहा है। इस पर शाहदरा आरपीएफ प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल कुमार और आइआरसीटीसी की धोखाधड़ी निरोधक शाखा के मैनेजर राकेश मिश्र की टीम ने आरोपित को धर दबोचा। वह वैभव खंड, इंदिरापुरम, गाजियाबाद में रहता है।

टीम ने उसके घर से 15 अक्टूबर से नवंबर के बीच त्योहारी सीजन में होने वाली यात्रा के 2.65 लाख रुपये मूल्य के 66 ई-टिकट बरामद किए हैं। वह इस साल 90 लाख 26 हजार रुपये मूल्य के 4250 ई-टिकट बुक कर चुका है। इस महीने की शुरुआत में बिहार के मुजफ्फरपुर में गौतम कनोडिया नामक युवक टिकट दलाली में गिरफ्तार हुआ था। उससे पूछताछ में नमन के बारे में जानकारी मिली थी। नमन और गौतम चचेरे भाई हैं।

उधर, शनिवार को आनंद विहार रेलवे स्टेशन के प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल कुमार की देखरेख में शकरपुर में एक दुकान पर छापा मारा गया। पुलिस को यहां आगामी यात्रा के 2,01,956 रुपये मूल्य के 77 ई-टिकट बरामद हुए। दुकान का संचालक सोनू, जून 2014 से अवैध रूप से टिकट बिक्री कर रहा था। वह अब तक 69.33 लाख रुपये मूल्य के 3945 टिकट बुक कर चुका है।

Posted By: Amit Singh