नई दिल्ली, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव-2019 के लिए दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) से गठबंधन को लेकर शनिवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित और प्रदेश प्रभारी पीसी चाको के साथ बैठक की। कुछ मिनटों की इस बैठक में एक बार फिर गठबंधन पर कांग्रेस अध्यक्ष ने दोनों नेताओं से राय ली। पीसी चाको ने फिर कहा कि अकेले लड़ने पर हार होगी। सूत्रों का कहना है कि AAP नेता के साथ हुई बैठक का हवाला देते हुए उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को 4-3 का फॉर्मूला भी बताया।

बताते हैं इस बार बैठक में शीला दीक्षित ने गठबंधन का विरोध नहीं किया है। इस वजह से अब गठबंधन का रास्ता तय माना जा रहा है। इसके बाद राहुल ने दोनों नेताओं को कहा कि जल्द वह इस बारे में अंतिम निर्णय लेकर बताएंगे। इसके बाद शीला दीक्षित ने अपने घर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षों की बैठक बुलाई। बैठक के बाद कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने कहा कि गठबंधन पर जो भी फैसला होगा वह हमें मान्य होगा। तीसरी बैठक दोपहर तीन बजे चाको के साथ शीला दीक्षित के घर पर हुई।

बैठक के बाद पीसी चाको ने कहा कि गठबंधन पर राहुल गांधी ने अभी कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है, अभी हम लोग गठबंधन पर सिर्फ चर्चा कर रहे हैं। पीसी चाको ने दावा किया कि दिल्ली में गठबंधन को लेकर अभी रास्ते खुले हुए हैं। पंजाब और हरियाणा के बारे में हो रही बातचीत से उन्होंने इनकार करते हुए कहा कि अगर गठबंधन होगा तो सिर्फ दिल्ली के सातों सीटों पर।

उन्होंने साफ कहा कि दूसरे राज्य को लेकर कोई चर्चा नहीं हो रही है। सूत्रों का कहना है कि शीला ने यह बैठक गठबंधन के बाद चुनाव के मद्देनजर बुलाई थी, लेकिन बैठक के दौरान चाको ने कहा कि जब तक कांग्रेस अध्यक्ष अपना फैसला नहीं सुना देते हैं, तब तक वह कुछ नहीं कर सकते।

माना जा रहा है कि अगले एक दो दिन में AAP-कांग्रेस की बीच दिल्ली में गठबंधन की घोषणा हो सकती है।पार्टी सूत्रों की मानें तो गठबंधन पर राहुल गांधी द्वारा सहमति जताने के बाद अब आम आदमी पार्टी के साथ सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत की जा रही है। पार्टी की पूरी कोशिश दिल्ली में ही गठबंधन करने की है। बताया जा रहा है कि दिल्ली में तीन सीटों पर चुनाव लड़ने पर कांग्रेस समहत हो सकती है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप