नई दिल्ली (जेएनएन)। आम आदमी पार्टी (आप) राज्यसभा के लिए पार्टी से बाहरी शख्स के नाम पर भी मुहर लगा सकती है। अगले साल जनवरी से सदन की सीटें खाली होना शुरू हो जाएंगी। दिल्ली से तीन राज्यसभा सदस्यों के लिए पार्टी में चर्चा भी शुरू हो गई है।

आप के शीर्ष नेतृत्व की अनौपचारिक बैठक में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के नाम पर भी चर्चा हुई। इस बैठक के बाद राजन को एक आधिकारिक मेल भी भेजा गया था। वहीं, राजन ने मेल के जरिये ही इस ऑफर को ठुकरा दिया है। 

पार्टी सूत्र यह भी बताते हैं कि अगर कुमार विश्वास को राज्यसभा में भेजा जाता है तो इससे पार्टी की छवि सकारात्मक नहीं हो जाएगी। उन्हें अर्थशास्त्री को चुनना चाहिए।

मालूम हो कि आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास, संजय सिंह, आशुतोष और दिलीप पांडेय जैसे नेता फिलहाल राज्यसभा के लिए उम्मीद लगाए बैठे हैं।

बता दें कि रघुराम राजन इस वक्‍त अमेरिका की शिकागो यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं और तीन साल तक आरबीआई के गवर्नर रहे हैं। 

पिछले दिनों पार्टी विधायक अमानतुल्‍लाह खान के निलंबन की वापसी के बाद इसका विरोध करते हुए वरिष्‍ठ नेता कुमार विश्‍वास ने कहा था कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि उनके राज्‍यसभा जाने के रास्‍ते में रोड़ा अटकाया जा सके। वहीं, राज्‍यसभा जाने के संदर्भ में उन्‍होंने पिछले दिनों कहा भी कहा था कि मनुष्‍य होने के नाते मेरी भी इच्‍छाएं हैं।

Posted By: JP Yadav