नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। दिल्ली में लगातार 3 विधानसभा चुनाव में एतिहासिक जीत तर्ज करने वाली आम आदमी पार्टी अगले साल होने वाले 6 राज्यों में विधानसभा चुनाव लड़ेगी। इनमें सबसे राज्य तो उत्तर प्रदेश है, लेकिन आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल की खास नजर पंजाब पर है। बताया जा रहा है कि 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में की गई बड़ी भूल से सबक लेते हुए 2022 के चुनाव में आम आदमी पार्टी मुख्यमंत्री चेहरे के साथ उतरने की तैयारी कर रही है। इतना ही नहीं, पंजाब के एक दिवसीय दौरे पर गए दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल ने बड़ा एलान किया। उन्होंने कहा है कि आम आदमी पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का दावेदार सिख समाज से ही होगा। अरविंद केजरीवाल से ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मुख्यमंत्री पद का चेहरा समय आने पर सबको बता दिया जाएगा। अरविंद केजरीवाल समेत AAP के वरिष्ठ नेताओं का मानना है कि पहले अकाल दल और अब कांग्रेस को आजमाने के बाद बदहाल पंजाब के लोग अब आम आदमी पार्टी को मौका देने की सोच बैठे हैं।

बता दें कि आम आदमी पार्टी पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था। AAP के विधानसभा चुनाव में उम्दा प्रदर्शन का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है, 20 सीटें जीतकर अकाल दल को छोड़कर विधासभा में मुख्य विपक्षी दल भी बनी। इस बीच बसपा और शिअद के गठबंधन के बाद समीकरणों में बदलाव भी आया है, लेकिन आम आदमी पार्टी के नेताओं को उम्मीद है कि वह न केवल अच्छा प्रदर्शन करेंगे, बल्कि कांग्रेस को सत्ता से बेदखलकर AAP पंजाब में अगले सरकार बनाएगी।

पंजाब की सभी 117 सीटों पर लड़ेगी आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी के पंजाब के नेताओं की मानें तो दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक दिवसीय दौरे के दौरान कैडरों को न केवल उत्साहित किया, बल्कि अब तो पार्टी सभी 117 सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी।

राघव चड्ढा (सह-प्रभारी, आम आदमी पार्टी, पंजाब) का कहना है कि पंजाब में सभी सीटों पर पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी। इस बार बाहरी नहीं, बल्कि स्थानीय व पंजाबी नेताओं के हाथ में चुनाव की कमान रहेगी। तय रणनीति के हिसाब से उम्मीदवारों व मुख्यमंत्री चेहरे की घोषणा कर दी जाएगी।  

इन 6 राज्यों में चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी

  1. उत्तर प्रदेश
  2. उत्तराखंड
  3. पंजाब
  4. गुजरात
  5. हिमाचल प्रदेश
  6. गोवा  

AAP ने गुजरात में स्थानीय निकाय चुनाव-2021 भी लड़ा था और एक तरह से अच्छा प्रदर्शन किया था, खासतौर से सूरत में। AAP के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल कह चुके हैं कि गुजरात के लोग भाजपा शासन से तंग आ चुके हैं। कांग्रेस ख़त्म हो चुकी है। दिल्ली में हुए AAP सरकार के शानदार कामों से गुजरात के लोग बेहद प्रभावित हैं और आम आदमी पार्टी की ओर बड़ी उम्मीद से देख रहे हैं। 

Edited By: Jp Yadav