नई दिल्ली [राहुल सिंह]। मानवता का गुण सभी में होना चाहिए ऐसा तो सभी मानते हैं, लेकिन इस गुण की छाप बहुत ही कम देखने को मिलता है। ऐसे ही कुछ दृश्य देखने को मिलने जिनमें से एक ऐसा दृश्य है जिसमें सड़कों पर लोगों के साथ सख्ती से पेश आने वाली पुलिस का एक मानवीय चेहरा भी दिखाई दिया है, जिसे बहुत कम लोग ही देख पाते हैं। इन दिनों राजधानी में यातायात पुलिस ऐसा ही कुछ काम कर रही है, जिसे वह किसी अफसर को दिखाकर वाहवाही नहीं लेना चाहते हैं। बल्कि अपना मानवीय फर्ज निभाकर लोगों के दिल में जगह बना रहे हैं।

वहीं, पुलिस के इस मानवता भरे काम को लोग अपने इंटरनेट मीडिया पर साझा भी कर रहे हैं, जिसमें लोग पुलिस की तारीफ कर रहे हैं। इसके कारण ही शायद दिल्ली पुलिस दिल की पुलिस बन रही है। लाल किला के पास एक बुजुर्ग ठेले वाला सामान को ठेले में रखकर चांदनी चौक जा रहा था। बीच रास्ते में उसका ठेले से सामान गिर गया तो वहीं खड़े पुलिसकर्मी उसकी मदद के लिए आगे आये और जमीन पर पड़ा उसका सामान उठाकर ठेले में रखने में उसकी मदद की।

वहीं, आसपास खड़े लोग केवल वीडियो बनाते रहे, लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया। वहीं, कश्मीरी गेट के पास एक दिव्यांग फुटपाथ पर चढ़ने के लिए अपनी व्हील चेयर को चढ़ाने की कोशिश कर रहा था, लेकिन कोई उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया तो वहां यातायात को संचालित करने वाला सिपाही योगेश बुजुर्ग दिव्यांग की मदद करने के लिए आगे आया और उसके व्हील चेयर को उठाकर फुटपाथ पर रखा, जिसके बाद आंसू भरी आंखों से दिव्यांग ने उसे धन्यवाद किया।

इसी तरह मंदिर मार्ग स्थित लाल बत्ती पर ओमप्रकाश नाम का सिपाही एक रिक्शे वाले को पानी पिलाते हुए नजर आया। कोतवाली सर्कल में सिपाही सुमित ने बुजुर्ग दिव्यांग की व्हील चेयर को सही किया, जिसकी तस्वीर आसपास खड़े लोगों ने लेकर उसे इंटरनेट मीडिया पर डाला, जिसके बाद लोगों ने पुलिस की जमकर तारीफ की। वहीं, पुलिस के ट्विटर अकाउंट पर बुजुर्गों को बस में बैठाने, दिव्यांगों को सड़क पार कराने समेत मानवता के तमाम कार्य पुलिसकर्मी ड्यूटी के साथ-साथ मानवता का धर्म भी निभा रहे हैं।विशेष पुलिस आयुक्त यातायात मुक्तेश चंद्र के निर्देशन में अधिकारी व अन्य स्टाफ ड्यूटी के साथ-साथ मानवता का फर्ज भी निभा रहे हैं, जिससे लोगों के मन में पुलिस की छवि अच्छी बन रही है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari