नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। राजधानी में सार्वजनिक रूप से छठ पूजा के आयोजन की अनुमति देने के दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के फैसले का भाजपा ने स्वागत किया है। भाजपा नेताओं का कहना है कि पार्टी व पूर्वांचल के लोगों के संघर्ष की वजह से छठ पूजा के आयोजन की अनुमति मिली है। सभी को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देश का पालन करते हुए छठ पूजा में शामिल होना चाहिए।

डीडीएमए ने छठ पूजा मनाने की दी अनुमति

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार के हिंदू विरोधी नीतियों की हार हुई है। डीडीएमए ने छठ पूजा मनाने की अनुमति दे दी है। उन्होंने कहा कि कोरोना का हवाला देकर सरकार पूर्वांचलवासियों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश कर रही थी। छठ पूजा में शामिल होने वालों के टीकाकरण के लिए भाजपा विशेष अभियान चला रही है।

सभी को कोरोना बीमारी से बचाव के नियमों का पालन करना होगा

छठ पूजा की अनुमति देने की मांग को लेकर रथ यात्रा निकालने वाले पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि यह पूर्वांचलवासियों की जीत है। उन्होंने कहा कि सभी को कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करना है। छठ व्रत करने वालों को टीका लगवाने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने दिल्ली सरकार से छठ घाटों पर व्यवस्था करने में सहयोग देने की मांग की है। बता दें कि छठ पूजा बिहार एवं यूपी के लोगों के लिए एक महापर्व की तरह मनाया जाता है। यह चार दिनों तक चलने वाला त्योहार है। इसमें लोग सूर्य की पूजा करते हैं। उगते एवं अस्त होते सूर्य को जल देकर उनकी पूजा की जाती है।

 

Edited By: Prateek Kumar