नई दिल्ली, जेएनएन। Eid Ul Adha 2019: दिल्ली-एनसीआर (National Capital Region) समेत पूरे देश में प्यार, मोहब्बत और खुशहाली का त्योहार ईद (Eid Ul Adha) यानी बकरीद (Bakrid) या बकरा ईद (Bakra Eid) मनाया जा रहा है। इससे पहले सोमवार सुबह दिल्ली-एनसीआर की मस्जिदों और ईदगाहों में ईद की नमाज अदा की गई। इस कड़ी में सोमवार सुबह दिल्ली के जामा मस्जिद के अलावा, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुरुग्राम और सोनीपत में मुस्लिम भाइयों ने ईद की नमाज अदा की फिर गले मिलकर एक-दूसरे को त्योहार की बधाई दी।

इससे पहले बकरीद से एक दिन पहले रविवार देर शाम तक दिल्ली-एनसीआर के लोगों ने जमकर खरीदारी की। इस दौरान पुरानी दिल्ली के बाजारों में भी रविवार को रौनक देखने को मिली। बकरीद की खरीदारी को लेकर बच्चों से लेकर बड़ों में उत्साह देखते ही बन रहा था। ऐसे में चितली कब्र, मीना बाजार व मटिया महल समेत अन्य बाजारों में देर शाम तक लोगों का तांता लगा रहा। सोमवार को बकरीद के मौके पर ईद की नमाज के बाद पशुओं की कुर्बानी दी जाएगी।

बकरीद को देखते हुए दो दिन से बाजार गुलजार थे। ऐसे में रविवार का दिन होने के कारण अधिक संख्या में लोगों ने खरीदारी की। शाम होते ही पुरानी दिल्ली के बाजार ग्राहकों की रौनक से गुलजार हो गए। इस दौरान लोगों ने नए कपड़े व घर को सजाने वाले सामान आदि की जमकर खरीदारी की। इस अवसर पर बच्चों ने भी अपने लिए जमकर खिलौने खरीदे। वहीं, दूसरी ओर बकरीद को देखते हुए दुकानदारों की ओर से भी पूरी तैयारी कई गई थी। शाम को दुकानों की रौनक भी पर्व की छटा को बयां कर रही थी।

बच्चों की पसंद रही शेरवानी
बकरीद को लेकर बच्चों की पहली पसंद शेरवानी रही। इस दौरान बच्चों ने पीले, क्रीम व सफेद रंग की शेरवानी खरीदी। बच्चियों ने भी विभिन्न रंगों में फ्रॉक वाली ड्रेस खरीदी। उर्दू बाजार स्थित दुकानदार फुरकान ने बताया कि बकरीद पर इस बार भी अच्छी खासी बिक्री रही है। बच्चों की पोशाक में क्रीम रंग की शेरवानी व हरे व गुलाबी रंग की फ्रॉक वाली पोशाक खूब बिकी।

सेवइयों व फैनी की रही अधिक मांग
बकरीद की पूर्व संध्या पर रविवार को सेवइयों और फैनी की भी अधिक मांग दिखी। इस दौरान सेवइयां 120 रुपये से लेकर 140 रुपये किलो तक में बिकीं। जामा मस्जिद स्थित बाजार में दुकानदार मो. फरहान ने बताया कि बकरीद पर शीर खोरमा बनाने के लिए सेवइयों और फैनी की भी अच्छी खासी बिक्री होती है। इसमें भी विभिन्न प्रकार की सेवइयां हैं। इसमें बनारस व किमाम वाली सेवइयां लोगों को अधिक पसंद आती हैं। उन्होंने बताया कि चांद रात में सफेद सेवइयों का विशेष महत्व है।

आखिरी दिन जमकर बिके बकरे
बकरीद से एक दिन पहले जामा मस्जिद इलाके में जमकर बकरे बिके। इस दौरान आखिरी दिन होने के कारण बकरों के दामों में गिरावट भी देखने को मिली। वहीं, जामा मस्जिद के सामने अलीगढ़ से लाया गया सुल्तान नाम का चार लाख का बकरा लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा। इसे खरीदने के लिए कई लोग मोलभाव करते दिखे। हालांकि, शाम होते होते बकरों का बाजार भी पूरी तरह से सिमट गया। इसके बाद विभिन्न राज्यों से पहुंचे व्यापारियों ने बकरीद का त्योहार मनाने के लिए अपने शहरों को कूच किया।

पुरुषों ने खरीदा कुर्ता पायजामा तो महिलाओं ने सूट
बकरीद पर जहां पुरुषों ने कुर्ता पायजामा की खरीदीरी की, वहीं दूसरी ओर महिलाओं ने भी आकर्षक परिधानों की खरीदीरी की। इसमें पुरुषों की पहली पसंद चिकन व मलमल का कुर्ता रहा, वहीं महिलाओं ने भी जरकन वाले सूटों को तवज्जो दी। इस दौरान मीना बाजार स्थित एक दुकानदार परवेज ने बताया कि बकरीद से एक दिन पहले जिस तरह से काम की उम्मीद थी, उसके मुताबिक अच्छा खासा काम हुआ है। हालांकि, दो दिन से थोड़ी बहुत मंदी थी, लेकिन आज रविवार होने के कारण अधिक संख्या में लोग घरों से निकले।
 

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप