नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। कोरोना मरीजों के लिए रेलवे द्वारा तैयार किए गए कोविड केयर कोच में मरीजों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की कोशिश चल रही है। इसी कड़ी में अब प्रत्येक मरीज के पास अलार्म लगाए गए हैं, जिससे कि वह किसी तरह की परेशानी होने पर तत्काल डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्य कíमयों को बुला सके। दिल्ली के नौ रेलवे स्टेशनों पर 503 कोच उपलब्ध कराए गए हैं। शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर इसका इस्तेमाल भी शुरू हो गया है। छह मरीजों का यहा इलाज किया जा रहा है। मरीजों के इलाज के लिए सेना के डॉक्टर और स्वास्थ्य कíमयों को तैनात किया गया है।

बृहस्पतिवार को उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन का दौर करके मरीजों के इलाज के लिए किए गए इंतजामों का जायजा लिया। शकूरबस्ती में कुल 50 कोविड केयर कोच लगाए गए हैं। इसके साथ ही डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों के आराम करने और दवाइया रखने के लिए वातानुकूलित कोच भी लगाए गए हैं। पिछले दिनों महाप्रबंधक ने मरीजों की सुविधा के लिए इमरजेंसी अलार्म लगाने की सलाह दी थी।

इसके बाद रेलवे के इंजीनियरों ने प्रत्येक कोच में इसकी व्यवस्था कर दी है। इसका बटन दबाने पर डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी के कोच में मरीज का कोच नंबर व बिस्तर नंबर डिस्प्ले बोर्ड पर दिखाई देने लगेगा। इसमें लाल बत्ती जलने के साथ ही अलार्म भी बजेगा। शकूरबस्ती में लगाए गए कोविड केयर कोच को पीतमपुरा स्थित महावीर अस्पताल के साथ जोड़ा गया है। अस्पताल दवाइया व जरूरी उपकरण उपलब्ध कराने के साथ ही कोच के अंदर सफाई की व्यवस्था संभालेगा।

सेना के डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी तैनात

वहीं, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं मुहैया कराने के लिए भारतीय रेलवे ने शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर रेल कोच को आइसोलेशन में बदला है। यहां पर मरीज आने लगे हैं। यहां पर मरीजों के इलाज के लिए सेना के डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी तैनात हैं। वहां पर एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई है, जिससे कि किसी की तबीयत ज्यादा खराब होने पर उसे कोविड अस्पताल पहुंचाया जा सके। बुधवार को यहा लाए गए दो मरीजों में से एक की रात में तबीयत खराब हो गई थी। उसे दीपचंद बंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, बृहस्पतिवार को पाच और मरीजों को कोविड कोच में भर्ती कराया गया है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस