गुरुग्राम [आदित्य राज]। नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) में फोर्स कमांडर-1 ब्रिगेडियर गौतम गांगुली का दावा है कि अब देश में मुंबई के ताज हमले जैसा हमला नहीं हो सकता। इसके पीछे मुख्य वजह सुरक्षा बलों की सक्रियता ही नहीं बल्कि आम लोगों में आई जागरूकता है। आम लोगों में जागरूकता से सुरक्षाबलों को काफी ताकत मिली है।

रविवार को दिल्ली-गुरुग्राम एक्सप्रेस-वे स्थित एंबियंस मॉल में आतंकवाद विरोधी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान दैनिक जागरण से बातचीत में गांगुली ने कहा कि जब मुंबई पर हमला हुआ था, उस समय से अब देश काफी आगे निकल चुका है। हर क्षेत्र में मजबूती आई है।

सुरक्षाबलों की सक्रियता कई गुणा बढ़ी है। अब कहीं भी हमला होने पर 15 से 20 मिनट में सुरक्षा बल के जवान पहुंचकर मोर्चा संभाल लेंगे। यह बात आतंकवादी संगठनों को पता है। लोग इतने जागरूक हो चुके हैं कि वे भी सामना करने को तैयार हो जाएंगे। इस वजह से आतंकवादी अब आम लोगों के बीच में घुसने का प्रयास करते हैं। ऐसी स्थिति में हर स्तर पर चौकन्ना रहने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें: यहां पानी के लिए रातभर जागते हैं लोग, 100 रुपए में बिक रहा 20 लीटर पानी

कोई भी व्यक्ति अपना मकान किराए पर देने से पहले किरायेदार की पूरी जानकारी हासिल करे। घरेलू सहायिका रखने से पहले उसके बारे में पुलिस जांच कराएं। कहीं भी संदिग्ध वस्तु पड़ी हो तो किसी भी हाल में उसे नहीं उठाना चाहिए। इस बारे में पुलिस को सूचित करना चाहिए। यदि कोई संदिग्ध कहीं दिखाई देता है तो उसके बारे में पुलिस को सूचना देनी चाहिए। इस तरह की छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देकर आम लोग सुरक्षाबलों की मदद कर सकते हैं। इस बारे में जागरूकता आई है लेकिन अभी बहुत प्रयास करने की आवश्यकता है।

सामने से लड़ नहीं सकते, इसलिए घुसने का प्रयास

आतंकवादी सामने से लड़ नहीं सकते, इसलिए घुसने का प्रयास करते हैं। सेना सहित सभी सुरक्षा बल अत्याधुनिक हथियारो से लैस हैं। ऐसी स्थिति में आतंकवादी कभी भी सामने से हमला नहीं करेंगे। ऐसी स्थिति में जितने भी भीड़भाड़ वाले इलाके हैं, उन इलाको में सुरक्षा के ऊपर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उदाहरणस्वरूप मॉल हैं, इनमें हर समय सैकड़ों लोग रहते हैं। मॉल में बिना सुरक्षा जांच के एक भी व्यक्ति भी अंदर न जा पाए, इसके ऊपर ध्यान देने की आवश्यकता है। आतंकवादी अपने मंसूबे में तभी कामयाब हो पाते हैं, जब लोग आसपास रहने वालों के ऊपर ध्यान नहीं रखते।

यह भी पढ़ें: 'तो क्या दाऊद भी अपराधी नहीं', केजरीवाल के 'दर्द' पर कपिल ने छिड़का नमक

एनएसजी हर चुनौती का सामना करने को तैयार

परिस्थितियां चाहे जो भी हों, एनएसजी हर चुनौती का सामना करने को तैयार है। दिन प्रतिदिन इसकी ताकत व सक्रियता तेजी से बढ़ती जा रही है। 

Posted By: Amit Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप