नई दिल्ली/नोएडा, जागरण संवाददाता। Chilla Border Kisan Andolan Update: दिल्ली-नोएडा का चिल्ला बाॅर्डर किसानों ने सोमवार की शाम को बंद कर दिया। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की हत्या मामले में आरोपियों पर सख्त सजा की मांग को लेकर किसान यहां सड़क पर ही धरने पर बैठ गए हैं। इससे यह मार्ग पूरी तरह बंद हो गया है। पुलिस प्रशासन ने किसानों को काफी समझा कर इस रास्ते को खुलवाने की कोशिश की मगर उन्होंने प्रशासन की बातों का अनसुना कर दिया। इसके कारण रास्ता बंद कर दिया गया। किसान मुख्य कार्यपालक अधिकारी से मिलने की मांग को लेकर अड़े हैं। बता दें कि नए कृषि कानूनों को रद करने की मांग एवं लखीमपुर खीरी हत्याकांड में हत्यारोपित सजा को लेकर सोमवार को रेल रोको का आगाज किया था जिसके मद्देनजर कई जगह प्रदर्शन हुआ।

बता दें कि किसान इसके अलावा नोएडा सेक्टर 14ए स्थित नोएडा प्राधिकरण के आवास के गेट पर भी बैठे हैं। यहां पर बैठे भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के सदस्य। ये सभी अपनी मांगाें को लेकर धरना दे रहे हैं। वहीं, नोएडा प्राधिकरण का घेराव करने के लिए महामाया फ्लाईओवर के पास किसान जमा हो गए। इससे नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर जाम लग गया। भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के सदस्य लगातार नारेबाजी कर अपनी मांगों को मनवाने के लिए सरकार से कहा।

लखीमपुर खीरी हत्या कांड के मामले को लेकर किसान फ्रंटफुट पर हैं। इसमें किसानों की मांग है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र को मंत्री पद से हटाने एवं गिरफ्तार करने की मांग हैं। इसी मद्देनजर रेल सेवा को रोकने के लिए किसानों ने पहले से घोषणा कर रखी थी। हालांकि किसानों ने यह भी बताया रेल संपत्ति को किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जा रहा है। संयुक्त किसान मोर्चा समन्वय समिति के सदस्य बलबीर राजेवाल ने बताया कि अजय मिश्र और उनका बेटा, आशीष मिश्र लखीमपुर खीरी हत्याकांड का मुख्य आरोपी हैं। कहा कि इन पर सख्त से सख्त कानून के तहत सजा का एलान हो।

Edited By: Prateek Kumar