नई दिल्ली [निहाल सिंह]। NDMC Employee Bank Fraud Case: नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् (एनडीएमसी) के कर्मचारियों के सैलरी अकाउंट से रुपये निकलने से हड़कंप मच गया है। माना जा रहा है कि एनडीएमसी के कर्मचारियों का बैंक खाते संबंधी डाटा लीक हो गया हैं। इसकी वजह से लोगों के खाते से अवैध रूप से रुपये की निकासी हो रही है।

एनडीएमसी के कर्मी हैरत में हैं कि आखिर ऐसा कैसे हो रहा है। क्योंकि कोई घर पर खाना खा रहा होता है तो एटीएम से रुपये निकाले जाने का मैसेज आ जाता है तो कोई दफ्तर में काम कर रहा होता है तो उसके बैंक से रुपये निकालने जाने का एसएमएस मोबाइल पर आ जाता है।

एटीएम को कराया ब्लॉक

ऐसा ही कुछ एनडीएमसी जनसंपर्क विभाग में कार्यरत अमीर यादव के साथ हुआ। अमीर यादव सात फरवरी को अपने घर खाना खा रहे थे। तभी 8 बजकर 23 मिनट पर बैंक खाते से मुनिरिका के एटीएम से 15 हजार की राशि निकालने का मैसेज आ गया। मैसेज आते ही उन्हें लगा कि कई एटीएम तो नहीं खो गया। लेकिन जब देखा तो एटीएम उनके पास ही था। इसे देख उनके हाथ पांव फूले। तुरंत भारतीय स्टेट बैंक के कस्टमर केयर पर कॉल करके एटीएम को ब्लॉक करा दिया।

अमीर यादव ने बताया कि उनके वेतन खाते में 17 हजार रुपये थे लेकिन 15 हजार निकल गए। उनकी 31 तारीख को वेतन आया था। इसमें से कुछ राशि निकाल ली थी। इसी तरह अवधेश प्रताप सिंह के साथ हुआ। वह बतौर वाहन चालक एनडीएमसी में काम करते हैं। शुक्रवार यानि 14 फरवरी को वह दफ्तर में ही थे अचानक उनके बैंक खाते से एटीएम द्वारा 20 हजार की निकासी का मैसेज आ गया। जबकि एटीएम उनके पास ही मौजूद था। तुरंत बैंक जाकर उन्होंने एटीएम ब्लॉक करा दिया। साथ ही इसकी शिकायत भी बैंक को दे दी।

पीड़ितों ने बताई ठगी की कहानी

वहीं एक अन्य कर्मी मछला देवी ने बताया उनका खाता हालांकि एसबीआइ में नहीं हैं। उनका सिडीकेंट बैंक में हैं। 50 हजार रुपये की एटीएम द्वारा निकासी हुई। जबकि एटीएम उनके पास ही था। दक्षिणी दिल्ली में गींताजली इलाके में कोई एटीएम हैं। वहां से 4 फरवरी से लेकर 6 फरवरी से चार बार दस-दस हजार राशि निकालने के मोबाइल पर एसएमएस आए।

वहीं दो बार 5-5 हजार रुपये उसी स्थान से निकालने के बाद मोबाइल मेसेज आए। इसको लेकर उन्होंने फरीदाबाद के घर के पास के थाने में शिकायत दी है। वहीं अशोक बत्रा के खाते से 12 फरवरी को चार बार में चेन्नई के एक एटीएम से 40 हजार रुपये निकालने का मैसेज आया। अब उन्होने बैंक और पुलिस में शिकायत दे दी है।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस