ऩई दिल्ली, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव 2019 का बिगुल बज चुका है।  प्रथम चरण में 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिए 18 मार्च से प्रत्याशियों की नामांकन प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। इस बीच देश की राजधानी दिल्ली में कांग्रेस का अाम आदमी पार्टी (AAP) से गठबंधन को लेकर तेजी से घटनाक्रम बदल रहा है। खबर आ रही है कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन की संभावना बरकरार और दिल्ली के कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने इस गठबंधन को जरूरी बताया है। इतना ही नहीं, उन्होंने यहां तक कहा है कि वे इस मुद्दे पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी (DPCC) अध्यक्ष शीला दीक्षित को मना लेंगे। बता दें कि पूर्वी मुख्यमंत्री शीला दीक्षित पहले ही कई बार बयान दे चुकी हैं कि दिल्ली में आम आदमी के साथ गठबंधन नहीं होगा। पीसी चाको के बयान के बाद माना जा रहा है कि दिल्ली में कांग्रेस  व आम आदमी पार्टी गठबंधन की संभावना अभी भी बनी हुई है।

AAP-कांग्रेस दोनों के लिए गठबंधन जरूरी
दिल्ली कांग्रेस के प्रभारी और राहुल गांधी के करीबी वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने लोकसभा चुनाव के लिए AAP-कांग्रेस के बीच गठबंधन को जरूरी बताया है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, पीसी चाको ने कहा है कि दिल्ली कांग्रेस के अधिकतर नेता आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन चाहते हैं। ऐसे में वह दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष को गठबंधन के लिए मना लेंगे। 

गठबंधन के लिए पीसी चाको ने दिया तर्क

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने AAP-कांग्रेस गठबंधन के पीछे ठोस तर्क दिया है। उन्होंने कहा है कि अगर भाजपा नीत  राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को हराने के लिए अन्य राज्यों में कांग्रेस गठबंधन कर रही है तो दिल्ली में भी पार्टी को गठबंधन करना चाहिए। बता दें कि कांग्रेस ने डीएमके, आरजेडी, एनसीपी के साथ गठबंधन किया है। 

राहुल पर छोड़ा गठबंधन का फैसला
पीसी चाको ने शीला दीक्षित की आपत्ति पर कहा है कि उनकी राय में गठबंधन होना चाहिए और जरूरत पड़ी तो वे शीला को इसके लिए मना लेंगे। उन्होंने भी केजरीवाल की तरह ही तर्क दिया है कि कांग्रेस और AAP मिलकर दिल्ली में सातों सीटों पर भाजपा को हरा सकते हैं। पीसी चाको के मुताबिक, उन्होंने पहले भी राहुल गांधी और शीला दीक्षित को कहा है वर्किंग कमेटी के फैसले के बाद कांग्रेस की नीति है कि अन्य सभी राज्यों की तरह गठबंधन होना चाहिए। बताया जा रहा है कि अंतिम फैसला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर छोड़ा गया है। 

केजरीवाल चाहते हैं गठबंधन
गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी भी कांग्रेस के साथ गठबंधन चाहती है और इसके लिए लगातार प्रयास भी कर रही है। इसी कड़ी में पिछले दिनों AAP के राज्यसभा सदस्य और वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले अहमद पटेल से बात की थी। 

यहां पर बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कई बार रैलियों और सार्वजनिक मंचों से यह बयान दे चुके हैं कि दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन होना चाहिए। ऐसे में पीसी चाको का बयान अरविंद केजरीवाल के लिए भी राहत लेकर आया है। 

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप