हापुड़/बुलंदशहर, जेएनएन। गोवंश के अवशेष मिलने के बाद आक्रोशित भीड़ के हिंसा पर उतरने में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। बुलंदशहर की स्याना कोतवाली की चिंगरावठी चौकी पर हुई घटना के मुख्य आरोपित शिखर अग्रवाल को हापुड़ में बाईपास से बृहस्पतिवार सुबह बुलंदशहर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। शिखर अग्रवाल भाजपा युवा मोर्चा स्याना का नगर अध्यक्ष है। इसका नाम एफआइआर में भी शामिल है।

बताया जा रहा है कि शिखर हापुड़ से भागने की फिराक में था। जिसे बुलंदशहर की जहांगीराबाद कोतवाली के एसएसआई द्वितीय श्योपाल सिंह ने धर दबोचा। शिखर ने हाल ही में वीडियो वायरल करके इंस्पेक्टर स्याना रहे सुबोध सिंह पर घटना वाले दिन गोली मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था। शिखर लगभग सवा महीने से पुलिस को चकमा दे रहा थी। शिखर से पहले लगभग सभी मुख्य आरोपित जेल जा चुके हैं। 

इससे पहले नए साल से पहले ही बुलंदशहर के स्याना हिंसा के मामले की जांच पर रही एसआइटी ने इंस्पेक्टर पर कुल्हाड़ी से हमला करने वाले कलुवा को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में अब तक 30 से अधिक लोगों को गिरफ्तार जा चुका है।

पुलिस पहले ही इंस्पेक्टर की हत्या मामले में प्रशांत नट को गिरफ्तार कर चुकी है। आरोप है कि हिंसा वाले दिन कलुआ ने कुल्हाड़ी से इंस्पेक्टर को गंभीर रूप से घायल किया था, जिसके बाद प्रशांत नट ने उन्हें गोली मारी थी।

यहां पर बता दें कि तीन दिसंबर को हुई हिंसा में आरोपी कलुआ निवासी चिंगरावठी ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर कुल्हाड़ी से पहला वार कर घायल कर दिया था। इसके बाद ही आरोपी प्रशांत नट एवं अन्य आरोपियों ने इंस्पेक्टर को घेर लिया और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी।

दिल्ली-एनसीआर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए यहां पर क्लिक करें

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप