नई दिल्ली [आशीष गुप्ता]। पूर्वी दिल्ली नगर निगम के नेता विपक्ष मनोज कुमार त्यागी ने सोमवार को गाजीपुर अत्येष्टि स्थल का दौरा किया। वहां कार्यरत निगम कर्मचारियों को कोरोना से बचाव के लिए फेस शील्ड, ग्लव्ज, मास्क, हैंड सैनिटाइजर वितरित किया। नेता विपक्ष ने आरोप लगाया कि भाजपा शासित निगम द्वारा अत्येष्टि स्थल पर तैनात कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए उपकरण मुहैया नहीं कराए गए हैं। यह मेयर और निगम अधिकारियों का गैर जिम्मेदाराना रवैया है।

मनोज कुमार त्यागी ने बताया कि गाजीपुर अंत्येष्टि स्थल पर कार्यरत कर्मचारियों से उन्होंने बात की थी। कर्मचारियों ने बताया कि उन्हें कोरोना से बचाव के लिए निगम ने संसाधन उपलब्ध नहीं कराए हैं। उन्होंने बताया कि निगम कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में आते हैं, इस कारण विषम परिस्थितियों में जान की परवाह किए बगैर काम कर रहे हैं।

निगम की जिम्मेदारी है कि इन कर्मचारियों को कोरोना से बचाने के लिए जरूरी वस्तुएं उपलब्ध कराई जाएं। नेता विपक्ष ने मांग की है कि जिस प्रकार फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना रोधी टीका लगवाया गया था, उसी प्रकार उनके स्वजन को भी जल्द टीके लगवाए जाएं।

लगातार हो रहा सैनिटाइजेशन 

कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर पूर्वी दिल्ली नगर निगम वार्ड स्तर पर लगातार प्रयास कर रही है। निगम के मलेरिया विभाग कर्मचारी प्रत्येक वार्ड में घरों को सैनिटाइज कर रहे हैं। सोमवार को वेलकम वार्ड में पार्षद अजय शर्मा ने निगम के मलेरिया विभाग कर्मचारियों के साथ गली-गली जाकर घरों के बाहर सैनिटाइजेशन करवाया। इसके साथ ही वार्ड में 18 वर्ष उम्र से ऊपर वाले लोगों को वैक्सीन लगवाने की अपील की।

अजय शर्मा ने कहा कि वार्ड को कोरोना मुक्त रखने के लिए निगम कर्मचारी कोई कसर नहीं छोड़ रहे है। सफाई व्यवस्था से लेकर सैनिटाइजेशन तक विशेष ध्यान रखा जा रहा है। वह खुद काॅलोनियों में घर-घर जाकर 18 साल से ऊपर लोगों से टीका लगवाने की अपील कर रहे हैं। साथ ही जनता से लाकडाउन के नियमों का पालन करने को कह रहे हैं। मास्क लगाने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि नगर निगम सीमित संसाधनों के बावजूद क्षेत्र की जनता को कोरोना से बचाने का हर संभव प्रयास कर रहा है।