रेवाड़ी, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019: दिल्ली से सटे हरियाणा के गांव भाकली के ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार किया है। उनकी मांग नहीं मानने पर ग्रामीणों ने मतदान के बहिष्कार का अपना फैसला कायम रखा है। कोसली को नगर पालिका बनाने की अधिसूचना जारी होने के बाद से बवाल शुरू हुआ था। ग्रामीण भाकली हदबस्त को कोसली नपा से बाहर करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन अधिकारियों के पास गुहार लगाने के बावजूद उनकी मांग नहीं मानी गई। रविवार को सुबह दस बजे तक रोहतक लोकसभा व कोसली विधानस क्षेत्र में शामिल गांव भाकली के बूथ नंबर 12, 13 व 14 पर एक भी मतदान नहीं हुआ था। इस बाबत मांग को लेकर ग्रामीण प्रदर्शन कर रहे हैं और उनका कहना है कि अगर मांग न मानी गई तो मतदान नहीं करेंगे।

ग्रामीणों में हदबस्त तोड़ने को लेकर रोष

कोसली को नगर पालिका बनाने की मांग लंबे समय से उठाई जा रही है, लेकिन विकास की हर परियोजना को लेकर कोसली व भाकली गांव के बीच विवाद पनपता ही रहा है। इससे पहले कोसली गांव के लोगों ने नगर पालिका नहीं बनाए जाने पर वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनावों का बहिष्कार किया था। मार्च में कोसली को नगर पालिका बनाने की अधिसूचना जारी हुई थी। इस अधिसूचना में भाकली हदबस्त-165 को भी शामिल कर लिया गया है, जिसका विरोध भाकली गांव के लोग कर रहे हैं।

अपनी इस मांंग को लेकर ग्रामीणों ने करीब 20 दिन पूर्व गांव में पंचायत भी की थी। सरपंच रुकसाना की अध्यक्षता में हुई पंचायत में निर्णय लिया गया था कि नगर पालिका कोसली में गांव भाकली हदबस्त-165 को शामिल न किया जाए। निर्णय लिया गया था कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वे वोट नहीं डालेंगे। दो दिन पूर्व उपायुक्त अशोक कुमार व एसपी राहुल शर्मा ने भी ग्रामीणों से बातचीत की थी लेकिन मामला सिरे नहीं चढ़ पाया था।

रुकसाना (सरपंच भाकली) का कहना है कि कोसली नगर पालिका बनाए जाने का उनकी तरफ से कोई विरोध नहीं है। हमारी मांग सिर्फ इतनी है कि भाकली हदबस्त को इससे बाहर किया जाए। हमने पहले ही अधिकारियों को चेतावनी दी थी, लेकिन हमारी मांग की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया गया। लोकसभा चुनाव में हमारा पूरा गांव मतदान नहीं करेगा।

 दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप