नई दिल्ली, जेएनएन। एक बार फिर प्याज दिल्ली वालों के आंसू निकालने को तैयार है। अभी से ही इसकी कीमत 60 से 70 रुपये किलो तक पहुंच चुकी है, जबकि आने वाले दिनों में इसमें और तेजी देखने को मिल सकती है। इसकी वजह दक्षिण के उत्पादक राज्यों में बारिश से प्याज की फसल को हुआ भारी नुकसान है जिसका असर दिल्ली की मंडियों में दिखने लगा है।

आजादपुर मंडी में आम दिनों में जहां रोजाना 60-70 ट्रक प्याज आती थी, वहीं बृहस्पतिवार को 50 ट्रक प्याज ही मंडी में पहुंची। आढ़तियों के मुताबिक कुछ दिन पहले तक तो 25 ट्रक प्याज ही आ रहे थे। इस कमी का असर तो प्याज के भाव पर पड़ना ही था। 10 दिन पहले जहां मंडी में प्याज का भाव 15 से 20 रुपये किलो था, वहीं अब यह 40 से 50 रुपये में बिक रहा है, जो गली-मोहल्लों के बाजारों में पहुंचते-पहुंचते 60 से 70 रुपये किलो हो जाता है।

दरियागंज मंडी में प्याज 65 रुपये किलो बिक रहा है। यहां सब्जी खरीदने आई तबस्सुम ने बताया कि इस समय कई सब्जियों के दाम बढ़ गए हैं लेकिन प्याज के दाम तो कुछ दिनों के भीतर ही दोगुने हो गए हैं जिससे उनका बजट बिगड़ रहा है।

आजादपुर मंडी में प्याज के थोक आढ़ती राजेंद्र शर्मा ने बताया कि उत्तर भारत से बाजार में प्याज लगभग दो माह बाद आना शुरू होगी, जबकि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु व केरल समेत दक्षिण के अन्य राज्यों से अभी से ही प्याज आना शुरू हो जाता है। इस बार इन राज्यों में अप्रत्याशित बरसात हो रही है, जबकि वहां एक माह पहले ही बरसात खत्म हो जानी चाहिए थी।

वहीं, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने आने वाले कुछ दिनों में भी बारिश के होने का अनुमान लगाया है जिसके कारण बची फसल के भी खराब होने की संभावना जताई जा रही है। इसका साफ सा मतलब है कि प्याज के दाम अभी और चढ़ सकते हैं।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस