नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। E-ticketing system: दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं और कामकाज के दौरान दिल्ली परिवहन निगम की बसों में सफर करते हैं तो यह खबर आपके बेहद काम की है। दरअसल, कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को सुरक्षित और सुविधानजक बनाने के लिए डीटीसी की बसों में जल्द ही ई-टिकटिंग सिस्‍टम की शुरुआत की जा रही है। इस सिस्टम से यात्री न केवल बस में मोबाइल ऐप से टिकट खरीद सकेंगे टिकट, बल्कि ई-टिकटिंग सिस्‍टम से यह भी पता चलेगा कि कब स्‍टॉप पर अगली बस आने वाली है। यह ऐप यह जानकारी भी मुहैया कराएगा कि आने वाली बस में कुल इसमें कितनी सवारियां होंगी?  यह सिस्टम इंद्रप्रस्‍थ इंस्‍टीट्यूट ऑफ इनफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी (Indraprastha Institute of Information Technology)  ने बनाया है। संस्‍थान के राजन गिरसा, अतुल जैन और क्षितिज श्रीवास्‍तव ने यह ऐप विकसित किया है। 

मोबाइल ऐप से खरीद सकेंगे टिकट

यह सुविधा डीटीसी की बसों के साथ-साथ क्‍लस्‍टर स्‍कीम बसों में भी यात्रियों के लिए मुहैया होगाी। मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली परिवहन निगम (Delhi Transport Corporation) जल्द ही इस सिस्टम की शुरुआत करने जा रहा है। इसकी सबसे बड़ी खूबी यह है कि आप बस में सफर के दौरान मोबाइल ऐप से टिकट खरीद सकेंगे।

दिल्ली के परिवहन मंत्री ने बताया, क्यों लागू किया ज रहा है यह सिस्टम

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Delhi Transport Minister Kailash Gehlot) ने बताया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इस सिस्टम को लागू करने की जरूरत महसूस हुई। मंत्री के मुताबिक, बस यात्रियों और कंडक्टरों के बीच अधिक से अधिक दूरी बनाने के लिए दिल्ली सरकार अपनी बसों में ई-टिकटिंग प्रणाली शुरू करेगी। इस कॉन्टैक्टलेस टिकटिंग सिस्टम को तैयार करने के लिए टास्‍क फोर्स का ग‍ठन भी दिया गया है।

हो चुका है ट्रायल

पिछले सप्ताह इस सिस्टम का इसका ट्रायल रन हुआ है। संस्‍थान में एसोसिएट प्रोफेसर प्रवेश बियानी की मानें तो आगामी कुछ दिनों में ऐसे ही ट्रायल डीटीसी की 6,500 बसों में और किए जाएंगे। यह भी बताया गया है कि इस एप को 'वन डेल्‍ही' एप्‍लीकेशन के साथ जोड़ा जाएगा।

 यह भी जानें

  • सवारियों को न तो नगद टिकट खरीदना होगा और न ही उन्हें पेपर टिकट दिया जाएगा।
  • डीटीसी बसों में  एप के जरिये ई-टिकट मिलेगा।
  • टिकट लेने के लिए यात्रियों को एप से क्यूआर कोड स्कैन करना होगा। ऐसा करते ही डिजिटल माध्यम यानी भीम एप, यूपीआई या नेट बैंकिंग के जरिये भुगतान होगा।
  • आइआइआइटी के प्रो. डॉ. प्रवेश के मुताबिक क्लस्टर बसों में इस एप का ट्रायल किया जा चुका है। जल्द ही डीटीसी बसों में भी ट्रायल कर यात्रियों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।

यात्री कैसे उठा सकेंगे लाभ

  • इस सिस्टम के जरिये लाभ उठाने के लिए यात्रियों को मोबाइल में इस APP को डाउनलोड करना पड़ेगा।
  • बस में बैठने के बाद यात्रियों को जहां जाना है, वहां की जानकारी भरनी पड़ेगी।
  • इस दौरान किराए की रकम भी नजर आएगी।
  • बस में एक QR कोड लगा होगा, उसे स्कैन करके आप पेमेंट कर पाएंगे।
  • इस App से पहली बार टिकट लेंगे, तभी आपको जानकारी भरनी होगी। 

कैश का झंझट खत्म होगा

इस सिस्टम से यात्रियों को टिकट के लिए कैश नहीं देना होगा, और न ही यात्रियों को कागज़ वाले टिकट दिए जाएंगे। यात्रियों को बस में एक QR कोड लगा नजर आएगा। बस में सवार यात्री स्कैन कर सकेंगे। इसके बाद डिजिटल भुगतान कर सकेंगे।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस