नई दिल्ली [रीतिका मिश्रा]। कोरोना महामारी के चलते बोर्ड परीक्षाओं को रद करने के बाद मूल्यांकन की चुनौतियों और परिणाम को जारी करने की जद्दोजहद के बीच शुक्रवार को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 12वीं का परिणाम जारी कर दिया। बोर्ड ने ये परिणाम 30-30-40 फार्मूले पर जारी किया है। इसमें 12वीं के 40 फीसद अंक, 11वीं के 30 फीसद अंक और 10वीं के 30 फीसद अंक जोड़े हैं। 12 लाख से अधिक छात्रों ने बोर्ड की ये परीक्षा उत्तीर्ण की है। परीक्षा में 14 लाख से अधिक छात्रों ने पंजीकरण कराया था। वहीं, बोर्ड ने इस साल भी मेरिट लिस्ट नहीं जारी की है। बोर्ड के अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि इस साल विषयवार मेरिट सूची भी नहीं जारी की जाएगी और ना ही किसी छात्र का मेरिट सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा। वहीं, बोर्ड इस साल छात्रों को एक साथ मार्कशीट और सर्टिफिकेट जारी करेगा।

छह हजार छात्रों का परिणाम नहीं हुआ जारी

सीबीएसई ने 65184 छात्रों का परिणाम फिलहाल नहीं जारी किया है। बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक इन छात्रों का परिणाम पांच अगस्त कर घोषित किया जाएगा। बोर्ड के मुताबिक 1060 स्कूलों के पास संदर्भ साल (रेफरेंस ईयर) का डाटा नहीं था। ऐसे में इन स्कूलों के लगभग छह हजार छात्र और कुछ अन्य स्कूलों के छात्रों के परिणाम में फिलहाल ‘रिजल्ट लेटर’ लिख कर आएगा।

लड़कियों का पास फीसद लड़कों से ज्यादा

बोर्ड परीक्षा में इस साल लड़कियों का पास फीसद लड़कों के मुकाबले 0.54 फीसद ज्यादा है। इस साल 99.67 फीसद लड़कियां और 99.13 फीसद लड़के पास हुए हैं। वहीं, 100 फीसद ट्रांसजेंडर पास हुए हैं।

केवी और सीटीएसए स्कूल के 100 फीसद छात्र हुए पास

केंद्रीय विद्यालय (केवी) और केंद्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन (सीटीएसए) स्कूल के छात्रों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। इन स्कूलों के 100 फीसद छात्र पास हुए हैं। वहीं, सरकारी स्कूल के 99.72 फीसद, सरकारी सहायता प्राप्त के 99.48 फीसद, जवाहर नवोदय विद्यालय के 99.94 फीसद और निजी स्कूल के 99.22 फीसद छात्र पास हुए हैं।

99 फीसद से अधिक दिव्यांग छात्र हुए उत्तीर्ण

सीबीएसई की परीक्षा में दिव्यांग छात्रों का प्रदर्शन भी बहुत बढ़िया रहा। इस साल 99.59 फीसद दिव्यांग छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक इस साल कुल 3925 छात्रों ने परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया था। जिसमें 3909 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। इसमें 129 छात्र ऐसे हैं जिनके 95 फीसद या उससे अधिक अंक आए हैं। वहीं, 400 ऐसे छात्र हैं जिनके 90-95 फीसद के बीच अंक आए हैं।

प्राइवेट और पत्राचार छात्रों की होगी परीक्षा

बोर्ड ने प्राइवेट और पत्राचार छात्रों का परिणाम नहीं जारी किया है। बोर्ड द्वारा इन छात्रों की आफलाइन परीक्षा आयोजित की जाएगी। बोर्ड के मुताबिक देशभर में कुल 60443 छात्र प्राइवेट और पत्राचार के हैं।बोर्ड द्वारा इन छात्रों की परीक्षा 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी।

पांच फीसद से अधिक छात्रों ने हासिल किए 95 फीसद से अधिक अंक

12वीं बोर्ड की परीक्षा में इस साल कुल 70004 छात्र यानि 5.37 फीसद छात्रों के 95 फीसद या उससे अधिक अंक आए हैं।

एक लाख छात्रों ने हासिल किए 90 फीसदी से ज्यादा अंक

देशभर में कुल 150152 छात्रों ने 90 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए हैं। यानि 11.51 फीसद छात्र ऐसे हैं जिनके 90-95 फीसद के बीच अंक आए हैं। 90 फीसदी अंकों की संख्या पिछले वर्ष की तरह ही है।

6149 छात्रों को देनी होगी कंपार्टमेंट परीक्षा

सीबीएसई में इस बार 6149 छात्रों की कंपार्टमेंट आई है। इन्हें 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के लिए परीक्षा देनी होगी। बोर्ड द्वारा इन छात्रों की परीक्षा 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी। इस दौरान वो छात्र भी परीक्षा दे सकते हैं जो बोर्ड द्वारा जारी किए गए परिणाम से संतुष्ट नहीं हैं।

Edited By: Prateek Kumar