नई दिल्ली (राहुल मानव)। दिल्ली विश्वविद्यालय से संबद्ध किरोड़ीमल कॉलेज (केएमसी) की तरफ से छह महीने का उद्यमी एवं स्टार्टअप कोर्स शुरू किया जा रहा है। इसमें छात्रों को सिखाया जाएगा कि वह नौकरी देने वाले बनें, नौकरी लेने वाले नहीं। इसमें छह महीने के प्रशिक्षण में छात्रों को रिटेल, निर्माण, सॉफ्टवेयर, वेबसाइट, सोशल मीडिया, सौर ऊर्जा, अंक ज्योतिष, फूड एंड टेक्नोलॉजी, जैविक उत्पाद जैसे कई क्षेत्रों के बारे में बताया जाएगा।

मिलेगा प्रशिक्षण

इन क्षेत्रों में प्रशिक्षण दिया जाएगा कि छात्र इन क्षेत्रों में स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं। इसमें छात्रों को इस तरह से तैयार किया जाएगा कि वह अपने व्यवसाय की योजना कैसे तैयार करें, फंड को कैसे जुटाएं, व्यवसाय के प्रमोशन की गतिविधियों को कैसे पूरा करें। इन सब पहलुओं से छात्रों को रूबरू कराते हुए एक प्रखर उद्यमी बनने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

पहचानेंगे आइडिया

छात्रों को सबसे पहले बताया जाएगा कि वह अपने आइडिया की पहचान करें और उसके अनुसार अपने स्टार्टअप पर काम करें। किरोड़ीमल कॉलेज की प्राचार्य डॉ. विभा सिंह चौहान ने बताया कि छह महीने के इस सर्टिफिकेट कोर्स का दूसरा बैच शुरू किया जा रहा है। पिछले वर्ष इस कोर्स को शुरू किया गया था।

उनके विशेषज्ञ भी देंगे छात्रों को प्रशिक्षण

कोर्स के नोडल अधिकारी एवं किरोड़ीमल कॉलेज के कॉमर्स विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. पुष्पेंद्र कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की तरफ से सभी शिक्षण संस्थानों को कौशल विकास के लिए कोर्स शुरू करने के लिए कहा है।

छह महीने का है कोर्स

इसी स्कीम के अनुरूप किरोड़ीमल कॉलेज ने पिछले वर्ष से छह महीने का उद्यमी एवं स्टार्टअप का सर्टिफिकेट कोर्स शुरू किया था। कॉलेज ने दस उद्योगों के साथ साझेदारी भी की है। इन उद्योगों के विशेषज्ञ भी कॉलेज आकर छात्रों को प्रशिक्षण देंगे। साथ ही स्टार्टअप शुरू करने वाले व्यवसायी बन चुके कई लोगों को भी छात्रों को व्याख्यान देने के लिए बुलाया जाएगा। किरोड़ीमल कॉलेज ने आइआइटी दिल्ली से भी सहयोग मांगा है कि वह तकनीक के क्षेत्र में हमारी मदद करें और वहां के विशेषज्ञ इन कोर्स में आवेदन करने वाले छात्रों को प्रशिक्षण दें।

पात्रता और सीटें

इस कोर्स में 12वीं कर चुके छात्र आवेदन कर सकते हैं। छात्र इस कोर्स में पढ़ाई करने आ सकते हैं। साथ ही स्नातक की डिग्री करने वाले प्रथम, द्वितीय और तीसरे वर्ष के किसी भी विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर रहे छात्र भी आवेदन कर सकते हैं। कुल 20 सीटें निर्धारित की गई हैं। कोर्स में पहले आओ और पहले पाओ के तहत दाखिला दिया जाएगा। कोर्स 14 अक्टूबर से शुरू हो जाएगा। कोर्स की छह महीने का शुल्क 3500 रुपये है।

कब तक करें आवेदन

कोर्स के लिए छात्र 12 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। डीयू की वेबसाइट में, कॉलेज की वेबसाइट में और कॉलेज जाकर छात्र इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसमें छात्रों को आवेदन फॉर्म भरकर जमा कराना होगा।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस