नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। रोहिणी कोर्ट में हुए शूटआउट के बाद दिल्ली पुलिस ने निचली अदालतों की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। अभी तक कोर्ट की सुरक्षा में सिपाही से एसआइ स्तर के पुलिसकर्मी तैनात किए जाते थे। रोहिणी कोर्ट में हुए गोगी हत्याकांड के बाद अब इसमें बड़ा बदलाव किया गया है। अब प्रत्येक जिला अदालत की सुरक्षा का इंचार्ज इंस्पेक्टर रैंक का अधिकारी होगा। वहीं एसीपी रैंक के अधिकारी कोर्ट की सुरक्षा को सुपरवाइज करेंगे।

नई सुरक्षा व्यवस्था से अदालत परिसर होगा सुरक्षित

अधिकारियों का मानना है कि इससे अदालत परिसर को सुरक्षित बनाने में मदद मिलेगी। सुरक्षा के विशेष आयुक्त आइडी शुक्ला द्वारा बुधवार को जारी किए गए आदेश के अनुसार रोहिणी कोर्ट की सुरक्षा की जिम्मेदारी इंस्पेक्टर मुकेश कुमार के पास होगी। यहां की सुरक्षा का सुपरविजन एसीपी प्रशांत करेंगे। राउज एवेन्यू कोर्ट की सुरक्षा इंस्पेक्टर संजय कुमार सिन्हा संभालेंगे। वहीं, इस कोर्ट की सुरक्षा का सुपरविजन एसीपी विजय रस्तोगी करेंगे।

इन्हें मिली कोर्ट सुरक्षा की जिम्मेदारी

द्वारका कोर्ट की सुरक्षा इंस्पेक्टर हरेंद्र सिंह जबकि सुपरविजन एसीपी अजय गुप्ता करेंगे। कड़कड़डूमा कोर्ट की सुरक्षा इंस्पेक्टर विवेक त्यागी करेंगे और सुपरविजन का काम एसीपी अवतार सिंह को सौंपा गया है। तीस हजारी कोर्ट की सुरक्षा इंस्पेक्टर दिनेश को दी गई है और इसका सुपरविजन सुप्रीम कोर्ट की सुरक्षा में तैनात एसीपी जगदीश प्रसाद द्वारा किया जाएगा। पटियाला हाउस कोर्ट की सुरक्षा की जिम्मेदारी इंस्पेक्टर संजीव कुमार को दी गई है, वहीं दिल्ली हाईकोर्ट की सुरक्षा में तैनात एसीपी सुनील कुमार द्वारा इसका सुपरविजन किया जाएगा। साकेत कोर्ट की सुरक्षा की जिम्मेदारी इंस्पेक्टर अजय नेगी को सौंपी गई है और इसका सुपरविजन एसीपी अशोक कुमार करेंगे। आदेश में कहा गया है कि कड़कड़डूमा कोर्ट की सुरक्षा में तैनात अधिकारी तीस हजारी कोर्ट में तैनात सुरक्षा अधिकारी का लिंक अधिकारी होगा। इसी तरह रोहिणी कोर्ट को द्वारका कोर्ट से और राउज एवेन्यू कोर्ट को साकेत कोर्ट और पटियाला हाउस कोर्ट से जोड़ा गया है।

Edited By: Prateek Kumar