नई दिल्ली [गौतम कुमार मिश्रा]। एशिया की अति सुरक्षित मानी जाने वाली तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली-पश्चिमी उत्तर प्रदेश का नामी गैंगस्टर अंकित गुर्जर मृत पाया गया। इससे तिहाड़ जेल प्रशासन सकते में है। वहीं, परिजनों ने तिहाड़ जेल प्रशासन पर अंकित गुर्जर की हत्या का आरोप लगाया है। परिजनों का कहना है कि अंकित की मौत जेल में पिटाई से हुई है। गौरतलब है कि पिछले साल ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दक्षिणी दिल्ली के दो नामी गैंगस्टर अनिल गुर्जर और अंकित गुर्जर को गिरफ्तार किया था।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने अंकित गुर्जर पर सवा लाख रुपये का इनाम भी रखा था, जबकि अनिल गुर्जर पर दिल्ली प्रदेश पुलिस ने 1 लाख रुपये का इनाम रखा था। इसके अलावा, दिल्ली पुलिस ने अंकित गुर्जर पर 25,000 रुपये का इनाम रखा था। अंकित गुर्जर की मौत की सूचना परिजनों की दे दी गई है। वहीं, परिजनों ने तिहाड़ जेल प्रशासन पर अंकित गुर्जर की हत्या में शामिल होने का आरोप लगाया है। 

परिवार का आरोप है कि अंकित गुर्जर के पास से पुलिस अधिकारियों ने मोबाइल फोन बरामद किया था, जिसके बाद उसकी एक जेल अधिकारी के साथ हाथापाई हो गई थी। परिजनों का कहना है कि हाथापाई के दौरान अंकित गुर्जर की मौत हो गई।

कुख्यात गैंगस्टर अंकित गुर्जर मूलरूप से दिल्ली से सटे बागपत के खैला गांव का रहने वाला था। पूर्व प्रधान विनोद की हत्या के मामले में एक लाख के इनामी रहे अंकित को दिल्ली पुलिस ने हरियाणा में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। अंकित के परिजनों ने जेल अधिकारियों पर हत्या करने का आरोप लगाया है। 

 अंकित गुर्जर पर नोएडा में मैनेजर को अगवा करने का आरोप

वहीं, उत्तर प्रदेश में भी इसके खिलाफ काफी मामले दर्ज हैं। दिल्ली की स्पेशल सेल ने कुछ दिन पहले इसके साथी विक्की उर्फ पहलवान को गिरफ्तार किया था। विक्की पर 75 हजार रुपये का इनाम था। विक्की पर हत्या के सात मामले समेत दिल्ली व उत्तर प्रदेश में 15 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें नोएडा सेक्टर 63 से एक कंपनी के मैनेजर को 2019 में अगवा करने का भी आरोप अंकित गुर्जर पर था।

अनिल गुर्जर पर इसके अलावा भी कई मामले चल रहे थे। वहीं, देश ही नहीं एशिया की अति सुरक्षित मानी जाने वाली तिहाड़ जेल में अंकित गुर्जर के मृत पाए जाने के बाद जेल प्रशासन पर सवाल उठाए जा रहे हैं।

Edited By: Jp Yadav