नई दिल्ली (जेएनएन)। आम आदमी पार्टी (AAP) में फिलहाल हासिये पर चले रहे कुमार विश्वास ने वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दायर मानहानि के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में अहम बयान दिया है। उन्होंने बृहस्पतिवार को कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा कि डीडीसीए मामले में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ उनका बयान अरविंद केजरीवाल से मिली सूचना पर आधारित था। कुमार विश्वास के इस बयान को अरविंद केजरीवाल के प्रति उनके मतभेद के तौर पर देखा जा रहा है।  

दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) में कथित भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के मामले में AAP नेता कुमार विश्वास ने बृहस्पतिवार को हाई कोर्ट में कहा कि वह जेटली से माफी मांगने या कोई भी बयान देने से पहले यह जानना चाहते हैं कि इस प्रकरण में माफी मांगने से पहले क्या अरविंद केजरीवाल ने झूठ बोला था।

न्यायमूर्ति राजीव सहाय एंडला की पीठ के समक्ष उन्होंने कहा कि अरुण जेटली के खिलाफ दिया गया उनका बयान उनकी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल द्वारा कार्यकर्ता के तौर पर दी गई जानकारी पर आधारित था। जेटली की तरफ से वकील मानिक डोगरा ने कुमार विश्वास के रुख को अस्वीकार करते हुए कहा कि विश्वास ने पूर्व में लगाए गए आरोपों के दौरान दावा किया था कि उन्होंने भी दस्तावेजों को देखा है।

डोगरा ने कहा कि कुमार विश्वास को भी मामले में अन्य की तरह माफी मांगनी चाहिए। जब न्यायमूर्ति ने विश्वास से इस संबंध में पूछा तो उन्होंने कहा कि अरुण जेटली की छवि को हुए नुकसान के लिए वह पछतावा कर चुके हैं, लेकिन वह याचिका को बंद करने के लिए क्या बयान दे सकते हैं इस पर विचार करने के लिए उन्हें थोड़ा वक्त चाहिए।

विश्वास के अनुरोध का संज्ञान लेते हुए अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 28 मई की तारीख तय की। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आप नेता आशुतोष, संजय सिंह, दीपक वाजपेयी, कुमार विश्वास और राघव चढ्डा ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर डीडीसीए के अध्यक्ष रहने के दौरान भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए थे।

इसके बाद जेटली ने सभी के खिलाफ 10 करोड़ के मानहानि का मुकदमा पटियाला हाउस कोर्ट में किया था। गत दिनों मामले में बैकफुट पर आते हुए कुमार विश्वास को छोड़कर सभी आप नेताओं ने लिखित में अरुण जेटली से माफी मांगी थी। इसके बाद अरुण जेटली ने सभी के खिलाफ मुकदमा वापस ले लिया था। मामले में माफी मांगने से इन्कार करने पर कुमार विश्वास के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया चल रही है।

यहां पर बता दें कि कोर्ट में निपटारे के लिए एक संयुक्त आवेदन दायर करने के बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने पिछले महीने की 3 अप्रैल को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और AAP के 4 नेताओं के खिलाफ मानहानि का मुकदमा बंद कर दिया है। वहीं, कुमार विश्वास ने अब तक न तो माफी मांगी है और इस बाबत कोई आवेदन किया है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस