नई दिल्ली/सोनीपत [दीपक गिजवाल]। ओलिंपिक के सेमीफाइनल में अर्जेंटीना के साथ मैच में उतरने से पहले हॉकी खिलाड़ी निशा व नेहा ने वीडियो कॉल कर अपनी-अपनी मांओं से आशीर्वाद लिया है। निशा ने मां महरून से बातचीत की। इस दौरान निशा ने कहा कि मम्मी चिंता मत करो, टीम जमकर खेलेगी। टीम इतिहास रचने को बेताब है। हर कोई मुकाबला खेलने को लेकर उत्साहित है। मां महरून ने भी कहा कि बिना घबराए और बिना दबाव के मैच खेलना। वहीं, नेहा ने भी वीडियो कॉल कर मां सावित्री से आशीर्वाद लिया। सावित्री ने बेटी की जीत की कामना के लिए घर पर पूजा रखी थी। दोपहर में मैच शुरू होने से पहले हर तरफ उत्साह का माहौल बना हआ है। दुकानों-घरों से लेकर सड़क से गुजरते वाहनों में भी 'चक दे इंडिया' फिल्म का टाइटल सांग 'चक दे इंडिया' बजता सुनाई दे रहा है। शहर के औद्योगिक क्षेत्र स्थित जिस हॉकी मैदान पर नेहा व निशा अभ्यास करती हैं, वहीं खेल रही खिलाड़ियों ने वी वांट गोल्ड के नारे लगाए।

महिला हॉकी टीम में जिले में शहर के वेस्ट रामनगर की रहने वाली नेहा, कालूपुर की रहने वाली निशा व गोहाना की मोनिका मलिक भी खेल रही हैं। खिलाड़ियों के स्वजन आसपास के लोगों व घर आए रिश्तेदार जीत की दुआ कर रहे है। खिलाड़ियों के घरों में पूजा-अर्चना की गई।

हॉकी कोच प्रीतम सिवाच का कहना है कि टीम के शानदार प्रदर्शन से मेडल की उम्मीद बढ़ाई है। नेहा की मां सावित्री का कहना है कि टीम अब तक जिस तरीके से खेली है उम्मीद है कि अर्जेंटीना को हरा कर टीम फाइनल में जरूर पहुंचेगी। वहीं, निशा की महरून का कहना है कि बेटियों ने खूब मेहनत की है। अब इसका फल टीम को जरूर मिलेगी।

निशा ने वादा किया है कि टीम बेहतर प्रदर्शन करेगी। मेडल के साथ ही टीम स्वदेश लौटेंगी। पूर्व हाकी अंपायर केएल पुनैनी का मानना है कि टीम जिस जोश से खेल रही है, अगर ऐसा ही आज खेली तो अर्जेंटीना को एक-तरफा मात दे सकती है।

हॉकी हरियाणा के महासचिव सुनील मलिक का मानना है कि टीम अब तक सबसे बेहतर टीम है। इससे मेडल की उम्मीद की जा सकती है। बेहतरीन मैच देखने को मिलेगा। वहीं, दूसरी और शहर के मंदिरों व खेल अकादमियों में टीम की जीत के लिए हवन-यज्ञ किए है।

Edited By: Jp Yadav