नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने प्रदूषण की समस्या को लेकर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री को पत्र लिखा है। इसमें दिल्ली-एनसीआर राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों व विशेषज्ञों की बैठक बुलाने की अपील की है। दरअसल, एनसीआर में उत्तर प्रदेश, हरियाणा व उत्तर प्रदेश व राजस्थान में प्रदूषण की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है।

दीवाली के बाद से प्रदूषण में कोई सुधार नहीं हो रहा है और बीमारी से ग्रसित लोगों का सांस लेना मुश्किल हो रहा है। हालांकि, दिल्ली सरकार की ओर से निर्माण कार्य पर रोक, ट्रकों की आवाजाही पर प्रतिबंध, एंटी डस्ट व एंटी ओपन बर्निंग अभियान, पीयूसी चेकिंग, रेड लाइट गाडी आफ अभियान आदि चलाए जा रहे हैं। इसके बाद भी प्रदूषण की स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है।

आईआईटीएम के डाटा के आधार पर सेंटर फोर साइंस एवं एनवायरमेंट की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली के भीतर करीब 31 फीसदी प्रदूषण भीतरी स्त्रोतों से है जबकि 61 फीसदी प्रदूषण एनसीआर के बाहरी स्त्रोत से हो रहा है। लगातार बढ़ती प्रदूषण की समस्या को लेकर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने एनसीआर राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों और विशेषज्ञों की बैठक बुलाने की अपील की है। 

गोपाल राय का कहना है कि वह पिछले एक महीने से लगातार केंद्रीय प्रदूषण मंत्री को संयुक्त बैठक बुलाने के लिए पत्र लिख रहा हूं। दिल्ली में विशेषज्ञों के साथ बैठक कर प्रदूषण की समस्या पर चर्चा की जा सके। मंत्री का कहना है कि दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण की समस्या के समाधान को लेकर कोई ठोस निर्णय लिया जा सके।

Edited By: Pradeep Chauhan