नई दिल्‍ली, एएनआइ। भाजपा सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने पाकिस्‍तान की छह वर्षीय बच्‍ची का भारत में इलाज कराने के मामले में पाक को फिर उसका आतंक प्रेम याद दिलाया है। गंभीर ने कहा कि मुझे परेशानी पाकिस्‍तान की सरकार, आइएसआइ और वहां के आतंकवादियों से है। ना कि कोई बच्‍ची जो भारत इलाज कराने आ रही उससे।

प्रयास रहा सफल

बता दें कि गौतम गंभीर के प्रयास से पाकिस्तान की छह वर्षीय बच्ची ओमीमा अली का मेडिकल वीजा बढ़ा दिया गया है। अब यह बच्ची भारत में अपना इलाज जारी रख सकेगी। विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र लिखकर ओमीमा के माता-पिता को इस संबंध में जानकारी दी है। जानकारी के मुताबिक गौतम गंभीर ने एक अक्टूबर को पाकिस्तानी नागरिकों को मेडिकल वीजा के संबंध में विदेश मंत्रालय को एक पत्र लिखा था। गंभीर से इस संबंध में पाकिस्तानी क्रिकेटर मुहम्मद यूसुफ ने फोन करके अनुरोध किया था। वह इस बच्ची का उपचार जारी रखने के लिए लगातार वीजा दिलवाने का प्रयास कर रहे थे। लेकिन, मौजूदा हालात में उन्हें सफलता नहीं मिली।

नोएडा में चल रहा इलाज

इसके बाद उन्होंने गंभीर को बताया कि बच्ची का पहले नोएडा के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था और उसे ओपन हार्ट सर्जरी की जरूरत है। इसलिए उसे वीजा की सख्त जरूरत है। इसके बाद इस परिवार के लिए गंभीर ने विदेश मंत्रालय से अनुरोध किया था।

ट्वीट कर कही दिल की बात

गंभीर ने कहा कि वह वास्तव में प्रधानमंत्री व विदेश मंत्री के शुक्रगुजार हैं, जो उन्होंने अनुरोध स्वीकार कर पाकिस्तानी बच्ची व उसके माता-पिता को वीजा दिया। गंभीर ने बताया कि बच्ची पाकिस्तान से रवाना हो चुकी है, जो माता-पिता के साथ अटारी सीमा पार करने वाली है। इस संबंध में उन्होंने यह ट्वीट भी किया है, ‘ उस पार से एक नन्हे दिल ने दस्तक दी, इस पार दिल ने सब सरहदें मिटा दीं। उन नन्हे कदमों के साथ बहती हुई मीठी हवा भी आई है, कभी-कभी ऐसा भी लगता है जैसे बेटी घर आई है।

आतंक का खेल खेलने वालों को दिया साफ संदेश

क्रिकेटर से राजनीति में कदम रखने वाले गंभीर अपने बयानों से पहले भी राष्‍ट्रभक्‍ति संदेश और आतंक के खिलाफ कड़े संदेश देते रहे हैं। बता दें कि आतंक के खिलाफ पाकिस्‍तान की विश्‍व में चौतरफा खिचाई हो रही है। वहां आतंकियों की मौजदूगी और गिरती अर्थव्‍यवस्‍था से पाकिस्‍तान अपने बुरे से भी बुरे दौर से गुजर रहा है।

विदेश मंत्रालय से की थी गुजारिश

गौतम गंभीर ने यह भी कहा कि जो बच्‍ची भारत में इलाज कराने आ रही है इसके लिए मैंंने विदेश मंत्रालय से दरखास्‍त की थी और अनुमति मिलने के बाद यह नेक काम होने जा रहा है इसके लिए मैं शुक्रिया कहना चाहता हूं।

वीजा के लिए शुक्रिया

गौतम गंभीर ने विदेश मंत्रालय की तारीफ करते हुए कहा कि विदेश मंत्रालय ने इस अनुरोध को देखते हुए बच्‍ची को वीजा दिया यह काबिले तारीफ है।

पीएम को कहा थैंक्स

उन्‍होंने आगे कहा कि मैं प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को खास तौर पर शुक्रिया कहना चाहूंगा। अंत में बच्‍ची के स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में कहा कि आशा करता हूं कि उसका जल्‍द से जल्‍द अच्‍छे से इलाज हो और पूरी तरह से ठीक हो जाए।

अब शोर मचाएगा 'Shor App' ऑफिस में युुवतियों-महिलाओं के साथ नहीं होगी 'गंदी बात'

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप