नई दिल्ली [शुजाउद्दीन]। करावल नगर इलाके में कैंची से गला रेतकर की गई अधेड़ उम्र की महिला तारा बोध की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने इस मामले में गाजियाबाद के लोनी के रहने वाले चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान अमन, वैभव, आकाश व मनीष के रूप में हुई है। अमन की लोनी में स्कूल ड्रेस सिलाई की फैक्ट्री है, वह महिला के यहां से सिलाई के लिए कपड़ा लेकर जाता था। अमन आर्थिक तंगी का सामना कर रहा था। इस तंगी को दूर करने के लिए उसने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर महिला और उसके परिवार को लूटने की साजिश रची। उसी कड़ी में उसने महिला की हत्या की और उसके गहने लूट लिए। इसी तरह से अमन और आकाश ने लोनी में भी एक बुजुर्ग महिला की हत्या की थी, इनकी गिरफ्तारी से पुलिस ने उस वारदात को भी सुलझा लिया है।

जिला पुलिस उपायुक्त संजय कुमार सेन ने बताया कि तारा जौहरीपुर में रहती थी। इनके परिवार का स्कूल ड्रेस की सिलाई का काम है। घर के बराबर वाले मकान में परिवार ने फैक्ट्री व गोदाम बनाया हुआ है। सोमवार शाम को गोदाम में तारा का शव खून से लथपथ मिला था। कैंची से गला रेतने के अलावा पत्थर से सिर पर वार किया गया था। पुलिस को जांच में पता चला कि अमन महिला के परिवार की फैक्ट्री से ठेके पर कपड़ा लेकर अपनी फैक्ट्री में ड्रेस की सिलाई करता था। वह काम के सिलसिले में सोमवार को अपने कुछ दोस्तों के साथ महिला के घर पर आया था। पुलिस ने एसीपी राजेश दहिया, थानाध्यक्ष उपेंद्र सोलंकी व अन्य की टीम बनाई। पुलिस ने अमन के घर पर छापेमारी की तो वह फरार मिला। इस बीच पुलिस को पता चला इस वारदात में वैभव, आकाश व मनीष भी शामिल हैं। पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस के जरिये मनीष व अमन को पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। बाद में वैभव व आकाश को लोनी गोल चक्कर से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके पास से महिला के गहने बरामद कर लिए हैं।

लूट के लिए रची थी साजिश

अमन ने पुलिस को बताया कि पिछले कई महीने से उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं चल रही थी। वह तारा के परिवार की फैक्ट्री से कपड़ा लेकर सिलाई करता था। उसे मालूम था कि तारा के घर में काफी पैसा व गहने हैं। उसने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर लूट की साजिश रची। वह सोमवार शाम को अपने तीनों साथियों के साथ तारा के घर पहुंचा। बहाने से तारा को गोदाम में ले गया। उसने एक साथी को निगरानी के लिए बाहर खड़ा कर दिया था। गाेदाम में रखी कैंची से महिला का गला रेत दिया और पत्थर से सिर पर वार कर दिया। महिला ने जाे गहने पहने थे वह लूट लिए, इसके बाद वह महिला के घर में लूटपाट करने के लिए जाने लगे। लेकिन महिला के घर में कई पड़ोसी महिलाएं थी। इसलिए आरोपित घर में लूटपाट किए बिना चले गए।

Edited By: Jp Yadav