नई दिल्ली [रजनीश पाण्डेय]। नेब सराय इलाके में चल रहे फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ कर पुलिस ने तीन युवतियों समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान आदर्श, नवीन, प्रदीप, मोहम्मद सैफुदीन, नितिन, प्रवीन चौहान, राहुल, बृजेश, साहिबा खातून, मोनिका और मोहित वर्मा के रूप में हुई है। 

कैसे शिकार को फंसाते थे बदमाश

आरोपित गिफ्ट कार्ड्स रिडीम करवाने के बहाने लोगों को ठगते थे। इनके शिकार ज्यादातर यूएस के नागरिक होते थे। आरोपितों से डेस्कटाप, इंटरनेट राउटर और टीपी लिंक माडम बरामद हुए हैं। फिलहाल पुलिस इनसे और पूछताछ कर रही है। 

क्या कहती है पुलिस

एडिशनल डीसीपी पवन कुमार ने बताया कि सूचना के अनुसार, इग्नू रोड नेब सराय थाना इलाके में चल रहे काल सेंटर के जरिये यूएसए के नागरिकों को ठगा जा रहा है। पुलिस टीम ने 30 जून की रात छापा मारा तो देखा वहां कंप्यूटर का सेटअप लगा है। वहां मौजूद कर्मचारी लोगों से फोन काल पर व्यस्त नजर आए। वे खुद को अमेजन का प्रतिनिधि बताकर बात कर रहे थे। वे अमेजन पर गिफ्ट कार्ड भुनाने के बहाने लोगों को ठग रहे थे। आरोपितों में तीन युवतियां भी शामिल हैं। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया।

पहले भी दिल्ली- एनसीआर में हुई है फेक कॉल सेंटर चलाने वालों की गिरफ्तारी

बता दें कि दिल्ली में फेक कॉल सेंटर का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई जगहों पर इस तरह के केस सामने आते रहे हैं। वहीं दिल्ली के साथ एनसीआर की बात करें तो फेक कॉल सेंटर चलाने वालों का ठिकाना सबसे ज्यादा गुरुग्राम में मिलता रहता है। आए दिन वहां की पुलिस छापेमारी कर इस तरह की गतिविधियों में लिप्त लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजती रहती है। हाल में ही वहां पर एक बड़े फेक कॉल सेंटर का खुलासा हुआ था जिसमें बड़े पैमाने पर ठगी और आनलाइन फ्राड का खेल चल रहा था।

Edited By: Prateek Kumar