Move to Jagran APP

Excise Policy Scam: 'मनी ट्रेल साबित करने में ED फेल' AAP राज्यसभा सांसद ने कही ये बड़ी बात

दिल्ली के कथित शराब घाटाले को लेकर आप (AAP) सांसद डॉ. संदीप पाठक ने गुरुवार को ईडी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अदालत के मुताबिक ईडी सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अभी तक कोई सबूत नहीं जुटा पाई है। उन्होंने कहा कि ईडी (ED) मनी ट्रेल साबित करने में फेल हो चुकी है। पढ़िए आखिर आप नेता ने और क्या-क्या कहा है?

By Jagran News Edited By: Kapil Kumar Thu, 11 Jul 2024 06:02 PM (IST)
आप के राज्यसभा सांसद डॉ. संदीप पाठक ने ईडी को लेकर बड़ी बात कही।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (AAP) के महामंत्री व राज्यसभा सांसद डॉ. संदीप पाठक ने कथित शराब घोटाला मामले में ईडी को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा कि ईडी मनी ट्रेल साबित करने में फेल हो चुकी है।

राज्यसभा सांसद डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि कोर्ट ऑर्डर के मुताबिक ईडी (ED) अभी तक चुप है यह बताने में कि कथित शराब घोटाले का पैसा गोवा इलेक्शन में कहां इस्तेमाल हुआ है।

सीएम केजरीवाल के खिलाफ नहीं मिला कोई सबूत

उन्होंने बताया कि ऑर्डर में लिखा है कि सीएम अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के खिलाफ अबतक कोई सबूत नहीं मिला है। कहा कि कोर्ट ऑर्डर के मुताबिक, ईडी (ED) की नीयत में खोट है और पक्षपातपूर्ण बर्ताव कर रही है।

यह भी पढ़ें- Excise Policy Scam: क्या बढ़ेगी मनीष सिसोदिया की मुश्किल? SC के जज ने सुनवाई से खुद को किया अलग

सांसद डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि ईडी (ED) का उद्देश्य मनी ट्रेल खोजना नहीं बल्कि आप नेताओं को जेल में बंद रखना और यही करने के लिए जरूरी चीजें खोजते रहना है।

ED ने दिल्ली सरकार के इस काम को बताया ढोंग

आबकारी नीति घोटाले (Excise policy Scam) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने अदालत में 208 पन्नों का आरोपपत्र दाखिल कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। ईडी ने अपने सातवें पूरक आरोपपत्र में केजरीवाल को घोटाले का सरगना बताया है। ईडी ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने गोवा चुनाव में रिश्वत के पैसे का इस्तेमाल किया।

आरोप पत्र में दक्षिण समूह और केजरीवाल का नाम है। ईडी ने कहा कि केजरीवाल को घोटाले की पूरी जानकारी थी और आप संयोजक के तौर पर केजरीवाल पूरी तरह जिम्मेदार हैं। ईडी ने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने 100 करोड़ रुपये की रिश्वत की धनराशि का एक हिस्सा सीधे निजी तौर पर इस्तेमाल किया।

यह भी पढ़ें- 'केजरीवाल ही घोटाले के किंगपिन, सत्ता में रहने का अधिकार नहीं', पूरक चार्जशीट दायर होने पर मनोज तिवारी का हमला