नई दिल्ली [गौतम मिश्रा]। पंजाबी बाग थाना क्षेत्र में पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो किसी अन्य उम्मीदवार के बदले परीक्षा दे रहा था। आरोपित का नाम नीतीश है। नीतीश मूल रूप से बिहार के पटना जिला के बाढ़ स्थित भारम गांव का रहने वाला है। छानबीन में पता चला कि यह राजस्थान के दौसा जिला के रहने वाले कपिल कुमार मीणा के बदले परीक्षा दे रहा था। आरोपित के पास से कपिल का आधार कार्ड व एडमिट बार्ड बरामद हुआ है। मामले की तफ्तीश जारी है।

पुलिस के अनुसार पंजाबी बाग स्थित एक विद्यालय में दिल्ली डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के विभिन्न पदों के लिए परीक्षा आयोजित हो रही थी। परीक्षा हाल में जब परीक्षाथियों के दस्तावेज की जांच की जा हो रही थी तभी आरोपित की करतूत का पता चला।

इसके बाद केंद्र के अधीक्षक और फिर पुलिस को मामले से अवगत कराया गया पुलिस यह पता करने में जुटी है कि आखिर नीतीश दूसरे उम्मीदवार के बदले परीक्षा किसके कहने पर दे रहा था। क्या उसे इस काम के लिए पैसे भी मिलने थे, यह भी पता किया जा रहा है। पुलिस उस शख्स से भी पूछताछ करेगी जिसके बदले नीतीश परीक्षा दे रहा था।

करंट लगने से मजदूर की मौत

वहीं, शाहदरा इलाके में एक मजदूर की करंट लगने से मौत हो गई। मृतक की पहचान राम सुंदर उर्फ रामू के रूप में हुई है। आरोप है कि करंट लगने के बाद ठेकेदार ने मजदूर को अस्पताल में भर्ती करवाने के बजाय घर में ही इलाज करने लगा। रामू का भाई उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचा, जहां डाक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने बिल्डर और ठेकेदार के खिलाफ लापरवाही से मौत का केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार राम सुंदर मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के रहने वाले थे। वह दिल्ली में अपने भाई आनंद के साथ रहकर मजदूरी करते थे। बलबीर नगर एक्सटेंशन में एक निर्माणाधीन मकान में टाइल्स लगाने का काम कर रहे थे।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021