Move to Jagran APP

Delhi News: संयुक्त किसान मोर्चा की रैली के चलते लगा जाम, परेशान रहे वाहन चालक

रामलीला मैदान के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। रैली में नेताओं के संबोधन के बाद मध्य जिला पुलिस की टीम दोपहर बाद 15 किसानों के डेलीगेट्स को लेकर कृषि मंत्रालय गए। वहां कृषि मंत्री से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंप दिया।

By Jagran NewsEdited By: Narender SanwariyaPublished: Tue, 21 Mar 2023 05:22 AM (IST)Updated: Tue, 21 Mar 2023 05:22 AM (IST)
संयुक्त किसान मोर्चा की रैली के चलते लगा जाम

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। संयुक्त किसान मोर्चा की रामलीला मैदान में हुई रैली के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए थे। रैली में कोई खालिस्तानी समर्थक व असामाजिक तत्व घुसकर हंगामा न कर दें, इसके लिए सुरक्षा व्यवस्था को 16 सेक्टरों व पांच जोन में बांटा गया था। मध्य जिला के सभी अधिकारियों के अलावा दिल्ली के अन्य जिलों से भी डीसीपी, एडिशनल डीसीपी, एसीपी व इंस्पेक्टरों को बुलाकर उनकी तैनाती की गई थी।

सुरक्षा व्यवस्था में मध्य जिला पुलिस के अलावा 22 कंपनी पैरा मिलिट्री व अन्य जिले की पुलिस की तैनाती की गई थी। विशेष आयुक्त कानून-व्यवस्था दीपेंद्र पाठक खुद संयुक्त आयुक्त परमादित्य, डीसीपी संजय कुमार से, एडिशनल डीसीपी शशांक व हुक्मा राम के साथ घंटों रामलीला मैदान के चारों तरफ का मुआयना कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे। दीपेंद्र पाठक ने कहा कि कई दिन पहले से संयुक्त किसान मोर्चा के सभी घटकों के साथ बैठक करने के बाद उन्हें रामलीला मैदान में रैली करने की सशर्त अनुमति दी गई।

रामलीला मैदान के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। रैली में नेताओं के संबोधन के बाद मध्य जिला पुलिस की टीम दोपहर बाद 15 किसानों के डेलीगेट्स को लेकर कृषि मंत्रालय गए। वहां कृषि मंत्री से मुलाकात कर उन्हें अपनी मांग संबंधी ज्ञापन सौंपने के बाद पुलिस टीम उन्हें वापस रामलीला मैदान लेकर आए।

रैली में उत्तर प्रदेश, हरियाणा, बिहार आदि कई राज्यों से हजारों की संख्या में किसानों के रामलीला मैदान पहुंचने का सिलसिला रविवार से ही शुरू हो गया था। रामलीला मैदान के आसपास की सभी सड़कों पर जाम लगा रहा। जवाहरलाल नेहरु मार्ग, अरुणा आसफ अली मार्ग पर वाहन सुबह से शाम तक रेंगते रहे।

ये इलाके रहे प्रभावित

दिल्ली गेट, कमला मार्केट, हमदर्द चौक, अजमेरी गेट, भवभूति मार्ग, चमन लाल मार्ग, पहाड़गंज चौक, महाराजा रणजीत सिंह मार्ग, मीरदर्द चौक, विकास मार्ग, बाराखंभा रोड, गुरु नानक चौक, रणजीत सिंह फ्लाईओवर, मिंटो रोड से कमला बाजार, विवेकानंद मार्ग आदि।

किसान रैली के कारण विकास मार्ग से आइटीओ तक लगे जाम में फंसे वाहन

सिंघु बार्डर पर जांच के बाद ही वाहनों को दिल्ली में मिला प्रवेश पिछली बार कृषि कानून विरोधी प्रदर्शन के दौरान हुए उपद्रव को देखते हुए पुलिस ने सतर्कता बरती। हरियाणा और पंजाब से किसान ट्रेन व गाड़ियों से दिल्ली पहुंचे। रैली में शामिल होने वाले लोग उत्पात न मचा सकें। रेलवे स्टेशन व दिल्ली की सीमाओं पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त रहे। वाहनों की चेकिंग के बाद ही उन्हें दिल्ली में प्रवेश दिया गया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.