नई दिल्ली [सोनू राणा]। गोगी हत्याकांड मामले में आरोपित जयदीप व राहुल जाटव की मदद करने वाले हैदरपुर गांव निवासी उमंग व विनय यादव को गैंगस्टर सुनील मान उर्फ टिल्लू पैसे भेजता था। वह तिहाड़ जेल में बैठे-बैठे ही इन्हें हुकुम देता था व इसके लिए मोटी रकम भी उपलब्ध करवाता था। इसके बाद उमंग व विनय यादव उस पैसों से वारदात को अंजाम देते थे। हालांकि उमंग यादव पैसे अपने खाते में मंगवाने के बजाय एक दोस्त के खाते में मंगवाता था, ताकि किसी को शक न हो।

सूत्रों के अनुसार, हत्यारोपित जयदीप व राहुल की मदद करने के लिए भी उमंग के दोस्त के ही खाते में पैसे टिल्लू ने भेजे थे। पड़ोसियों के अनुसार अब उमंग का वह दोस्त भी डरा हुआ है कि पुलिस कहीं उसे भी न गिरफ्तार कर ले। स्थानीय लोगों की मानें तो गोगी हत्याकांड मामले में पुलिस ने जिन दोनों बदमाशों उमंग व विनय यादव को पकड़ा है वह पहले से ही अपने इलाके में गुंडागर्दी करते थे। उनके माता पिता जब उन्हें ऐसा करने से रोकते थे तो वह उनसे भी मारपीट करते थे।

बताया जा रहा है कि उमंग की अभी शादी नहीं हुई है और वह फाइनांस का काम करता है। वह दिन, सप्ताह व महीने के हिसाब से लोगों को ब्याज पर पैसे उधार देता है। वहीं विनय की शादी हो चुकी है। पत्नी को जब पता लगा कि वह बदमाशी करता है तो वह छोड़ कर चली गई। गोगी की हत्या के अगले ही दिन पुलिस ने दोनों बदमाशों के साथ उनके स्वजन को भी हिरासत में लिया था। लेकिन बदमाशों ने जब हत्यारोपितों का साथ देने की बात मानी तो स्वजन को घर भेज दिया गया।

जानकारी के अनुसार, उमंग के पापा व उनके भाइयों ने घर के पास ही किराये के लिए चार मंजिला इमारत बना रखी है। इसके फर्स्ट फ्लोर पर ही उमंग ने एक फ्लैट पार्टी के लिए रखा हुआ है। वह बदमाशों के साथ मिलकर यहीं पर दारू पार्टी करता है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को गोगी की हत्या करने से पहले आरोपित इसी फ्लैट में रुके थे। वकील की वेशभूषा में तैयार होकर वह यहीं से गए थे।

कोर्ट पहुंचकर जयदीप व राहुल जाटव ने गोगी की हत्या की थी, जबकि उमंग व विनय गाड़ी में कोर्ट के बाहर टिल्लू को पल-पल की खबर दे रहे थे। जैसे ही उमंग को पता लगा कि दोनों को पुलिस ने कोर्ट रूम में ढेर कर दिया है, इसके बाद उमंग व विनय फरार हो गए, लेकिन सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में इनकी गाड़ी का नंबर कैद हो गया था। जिसके बाद इन्हें पुलिस द्वारा दबोच लिया गया था। बताया जा रहा है कि आरोपितों के पकड़े जाने के बाद उमंग की फेसबुक आइडी से फोटो भी हटा दिया गया है।

Edited By: Mangal Yadav