नई दिल्ली, जेएनएन। राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को जहां सोमवार को दिल्ली के 400 पेट्रोल पंप बंद हैं, वहीं दिल्ली से सटे यूपी और हरियाणा के पेट्रोल पंपों पर सुबह से ही भारी भीड़ है और लोगों यहां से जमकर पेट्रोल-डीजल खरीद रहे हैं। आलम यह है कि दिल्ली से सटे यूपी के शहरों गाजियाबाद और नोएडा के अलावा, हरियाणा के गुरुग्राम और फरीदाबाद जैसे जिलों में भी दिल्ली के लोग पेट्रोल-डीजल डलवा रहे हैं। 

यहां पर बता दें कि नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद से दिल्ली जाने वाले वाहन अकसर वहीं तेल भरवाकर लौटते हैं, क्योंकि पिछले एक पखवाड़े से अधिक समय से राजधानी दिल्ली में दाम कम हैं।

 

पेट्रोल और डीजल लगातार पांचवें दिन सस्ता हुआ है। सोमवार को दिल्ली में पेट्रोल 30 पैसे और डीजल 27 पैसे सस्ता हुआ। कटौती के बाद यहां पेट्रोल 81.44 रुपये प्रति लीटर और डीजल 74.92 रुपये लीटर मिलेगा। पिछले पांच दिन में पेट्रोल 1.39 रुपये और डीजल 77 पैसे सस्ता हुआ है। हालांकि वैट में कटौती नहीं किए जाने के विरोध में दिल्ली में 400 पेट्रोल पंप आज बंद हैं।

नोएडा में पेट्रोल 79.02 तो डीजल बिक रहा 73.04 रुपये
नोएडा में पेट्रोल का दाम सोमवार को 79.02 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 73.02 रुपये में बिक रहा है। सभी तेल कंपनियों के पेट्रोल पंपों पर कीमतें समान हैं। कीमतों में बदलाव सोमवार सुबह 6 बजे हुआ है। बता दें कि 16 जून से पेट्रोल और डीजल की कीमतें हर दिन अंतरराष्ट्रीय मार्केट के हिसाब से बदल रही हैं। वहीं, गाजियाबाद में पेट्रोल का दाम सोमवार को 79.16 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 73.15 रुपये में बिक रहा है।

गुरुग्राम में 80 के पार है पेट्रोल तो 74 रुपये में बिक रहा डीजल

दिल्ली से सटे हरियाणा के  गुरुग्राम और फरीदाबाद में दिल्ली की तुलना में पेट्रोल-डीजल के दाम काफी कम हैं। ऐसे में सोमवार को गुरुग्राम में पेट्रोल का दाम 80.43 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 74.04 रुपये में बिक रहा है। 

बता दें कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही तेजी के खिलाफ दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (DPDA) ने दिल्ली के सभी 400 पेट्रोल पंप को 24 घंटे के लिए बंद रखने की घोषणा की है। दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन ने कहा है कि 22 अक्टूबर को सुबह 6 बजे से लेकर 23 अक्टूबर को सुबह 5 बजे तक दिल्ली के सभी पेट्रोल पंप बंद रहेंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार द्वारा पेट्रो पदार्थों पर वैट शुल्क में कटौती न करने के फैसले के विरोध में पेट्रोल पंप संचालकों ने हड़ताल की घोषणा की है। इस कारण सोमवार को दिल्ली के 400 से अधिक पेट्रोल पंप 24 घंटे के लिए बंद हैं। 22 अक्टूबर को सुबह 6 बजे से 23 अक्टूबर की सुबह 5 बजे तक यह बंदी रहेगी।

पेट्रोल पंप संचालकों का दावा है कि वैट कटौती न करने से उन्हें नुकसान उठाना पड़ रहा है, क्योंकि पड़ोसी राज्यों की सरकारों द्वारा वैट कटौती से वहां पेट्रोल व डीजल के दाम दिल्ली से कम हो गए हैं। इस कारण उनका कारोबार पड़ोसी राज्यों में स्थानांतरित हो रहा है।

5 अक्टूबर को केंद्र सरकार द्वारा उत्पाद शुल्क में कटौती व पेट्रोलियम कंपनियों द्वारा राहत देने के बाद जहां पेट्रोल-डीजल के दाम में 2.5 रुपये कम हुए। वहीं भाजपा शासित राज्यों ने भी वैट 2.5 रुपये घटा दिए, जिससे दिल्ली व पड़ोसी राज्यों हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश व राजस्थान में पेट्रोल-डीजल के दाम दिल्ली से कम हो गए हैं।

दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (डीपीडीए) के मुताबिक इस कारण दिल्ली में पेट्रोल की बिक्री में 20 व डीजल की बिक्री 30 फीसद से अधिक घट गई है। इसके पहले डीपीडीए ने दिल्ली सरकार से वैट में कटौती का आग्रह किया था। उसने सरकार से पेट्रो पदार्थों पर पुराना वैट दर बहाल करने की मांग की है। हालांकि, सरकार ने मांगों को अब तक ज्यादा तवज्जो नहीं दी है।

डीपीडीए के अध्यक्ष निश्चल सिंघानिया ने कहा कि शीला दीक्षित सरकार में पेट्रोल पर वैट 20 फीसद व डीजल पर 12.50 फीसद था, जिसे मौजूदा सरकार ने बढ़ाकर क्रमश: 27 व 16.75 फीसद कर दिया है। अभी दिल्ली सरकार पेट्रोल से 17.56 रुपये व डीजल से 10.76 रुपये प्रति लीटर वैट वसूल रही है। उन्होंने कहा कि हड़ताल के बाद भी अगर सरकार सकारात्मक रुख नहीं दिखाती तो पेट्रोल पंप संचालकों की बैठक कर अगले आंदोलन का फैसला लिया जाएगा। 

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप