नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् (एनडीएमसी) ने हेल्थ लाइसेंस शुल्क में बढोत्तरी कर दी है। परिषद ने वर्ष 2018 में लिए गए निर्णय का हवाला देते हुए नए हेल्थ लाइसेंस और नवीनीकरण कराने पर शुल्क में वृद्धि की है। इस वृद्धि से रेस्तरां, होटल, क्लब, जिम, स्पा, गेस्ट हाउस के लाइसेंस शुल्क बढ़ जाएगा। हालांकि कोरोना संकट से जूझ रहे ट्रेडर्स राहत की उम्मीद कर रहे थे। इस बीच एनडीएमसी ने 100 रुपये से लेकर 1700 रुपये का लाइसेंस शुल्क बढ़ा दिया है। एनडीएमसी के अनुसार छोटे कियोस्क, मदर डेयरी बूथ, वाटर ट्राली आदि के लिए कोई वृद्धि नहीं की है। भले ही है मामूली वृद्धि है लेकिन व्यापारी कोरोना संकट में एनडीएमसी से राहत की उम्मीद कर रहे थे। इस पर व्यापारियों ने विरोध जताया है।

एनडीएमसी के अनुसार हर वर्ष जारी होने वाले हेल्थ लाइसेंस में 40 फीसद लाइसेंसधारियों 400 रुपये की वृद्धि होगी। 30 फीसद मामलों में 900 और दो फीसद मामलों में 100 रुपये की वृद्धि होगी। पांच सितारा होटल जो कि कुल जारी होने वाले लाइसेंस का एक फीसद हैं उसमें 4300 रुपये की वृद्धि होगी। उल्लेखनीय है रेस्तरां, क्लब, जिम आदि के संचालन के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य होता है। एनडीएमसी यह लाइसेंस पांच वर्ष के लिए जारी करता है। इसके बात इसका नवीनीकरण कराना होता है।

नई दिल्ली ट्रडर्स एसोसिएशन के सचिव विक्रम बधवार ने कहा कि कोरोना संकट में व्यापारी राहत की उम्मीद कर रहे हैं लेकिन राहत देन की बजाय व्यापारियों पर उल्टा बोझ डाला जा रहा है। लाकडाउन के दौरान बिजली के बिल माफ करने की व्यापारियों लगातार मांग कर रहे हैं। 70 फीसद रेस्तरां इस समय बंद होने की स्थिति में हैं। उन्हें राहत देकर उनको बचाया जा सकता है। एनडीएमसी के इस कदम से व्यापारी नाराज है।

श्रेणी                            पुराना शुल्क                           नया शुल्क

शेफ कार्ट-                    6100                                      6527

गेस्ट हाउस (21 से 50 बेड)-6100                                  6527

लाजिग हाउस (51 से 100 बेड)12200                           13054

लाजिग हाउस (100 से ज्यादा बेड)24500                        26215

लाजिग हाउस (100 से ज्यादा बेड पांच स्टार होटल) 61200  65500

रेस्तरां (50 सीट से अधिक)-12000                                12840

Edited By: Mangal Yadav