Move to Jagran APP

Delhi Trade Fair 2022: शनिवार से आम जन भी कर सकेंगे मेले का दीदार, जानें टिकट रेट-पार्किंग सहित सारी जानकारी

मेला आयोजक आइटीपीओ ने हर दिन मेले में एक बार में 30 से 35 हजार दर्शकों को ही प्रवेश देने की योजना बनाई है। अधिक भीड़ होने पर इस संख्या को कभी भी कम किया जा सकता है। मेले की थीम वोकल फार लोकल लोकल टू ग्लोबल है।

By sanjeev GuptaEdited By: Prateek KumarPublished: Fri, 18 Nov 2022 06:01 PM (IST)Updated: Fri, 18 Nov 2022 06:01 PM (IST)
41वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले के दरवाजे शनिवार से आम दर्शकों के लिए भी खुल जाएंगे।

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। 41वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले के दरवाजे शनिवार से आम दर्शकों के लिए भी खुल जाएंगे। ऐसे में अब यहां रोजाना ही अच्छी खासी भीड़ देखने को मिलेगी। हालांकि, मेला आयोजक भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आइटीपीओ) ने हर दिन मेले में एक बार में 30 से 35 हजार दर्शकों को ही प्रवेश देने की योजना बनाई है। अधिक भीड़ होने पर इस संख्या को कभी भी कम किया जा सकता है। मेले की थीम वोकल फार लोकल, लोकल टू ग्लोबल है। इस बार मेले में दर्शकों को आजादी के अमृत महोत्सव की झलक भी देखने को मिलेगी।

73 हजार वर्ग मीटर में किया है आयोजन 

गौरतलब है कि इस बार व्यापार मेले का आयोजन 73 हजार वर्ग मीटर में किया जा रहा है। इसमें करीब 2500 प्रतिभागियों ने भाग लिया है। इसमें 29 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं, जिनमें आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, केरल, राजस्थान सहित कई राज्य हैं। वहीं 14 देश जिनमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश, बहरीन, बेलारूस, ईरान, नेपाल, थाईलैंड, टर्की, यूएई व यूके शामिल हैं, ने भी मेले में शिरकत की है।

फोकस स्टेट बने यूपी व केरल

व्यापार मेले में इस साल फोकस स्टेट उत्तर प्रदेश व केरल को बनाया गया है। पाटर्नर स्टेट इस साल तीन हैं - बिहार, झारखंड व महाराष्ट्र। इसके अलावा एक थीम पवेलियन भी बनाया गया है जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी के सपने की साकार होती संभावनाओं को दर्शाया गया है।

क्या रहेगा समय

आम जनता के लिए सुबह 10 से शाम साढ़े 6 बजे तक का समय रखा गया है। अंतिम दिन सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक का ही समय मेले में प्रवेश के लिए रखा गया है।

जाने कितनी होगी टिकट दर

  • व्यस्कों के लिए कार्यदिवसों में 80 रुपए जबकि सप्ताहांत में 150 रुपए।
  • सप्ताहांत व राजपत्रित अवकाश पर बच्चों की टिकट 60 रुपए व अन्य दिनों में 40 रुपए।
  • सिनियर सिटीजन व दिव्यांगों का प्रवेश मुफ्त रखा गया है।

जाने कहां से मिलेगी व्यापार मेले की टिकट

इस बार व्यापार मेले की टिकट के लिए दो मेट्रो स्टेशन की संख्या में इजाफा किया है। इसमें ग्रे लाइन पर ढांसा बस स्टैंड व एयरपोर्ट लाइन पर द्वारका सेक्टर 21 शामिल हैं। कुल 67 मेट्रो स्टेशनों से दर्शक मेले की टिकट प्राप्त कर सकते हैं।

कहां मिलेंगी खाने की वस्तुएं

नवनिर्मित हालों के ठीक सामने फूड कोर्ट बनाया गया है। जहां आप कई राज्यों के व्यंजनों का आनंद ले पाएंगे। इसके अलावा नवनिर्मित बिल्डिंग के भीतर बने राज्यों के पवेलियन में प्रत्येक राज्य के बने व्यंजनों का स्वाद चखने के साथ ही उन्हें खरीद भी सकते हैं। यहां आपको अचार, पापड़, चटनी, मोरब्बा, दालें, नमकीन, गजक के अलावा कई बेहतरीन मिठाईयां भी दिखेंगी।

सांस्कृतिक कार्यकमों का लेना है मजा तो जाने कार्यक्रम

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में इस बार नए बने एम्फीथिएटर में दर्शक राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों की संस्कृति की झलक को देख पाएंगे। पहले की तरह ही रोजाना किसी एक या फिर दो राज्यों का स्टेट डे मनाया जाएगा और इस दौरान उनके कलाकारों द्वारा अपने राज्य की सांस्कृतिक विरासत को नृत्य-गायन सहित अन्य तरीकों से दर्शाया जाएगा।

जाने कब किस राज्य का होगा कार्यक्रम

  • 19 नवंबर को केरल दोपहर 2:30 बजे, असम शाम 5:30 बजे
  • 20 नवंबर को बिहार दोपहर 2:30 बजे, हरियाणा शाम 5:30 बजे
  • 21 नवंबर को छत्तीसगढ़ दोपहर 2:30 बजे, दिल्ली शाम 5:30 बजे
  • 22 नवंबर को पुडुचेरी 2:30 बजे व उत्तराखंड शाम 5:30 बजे
  • 23 नवंबर को जम्मू कश्मीर दोपहर 2:30 बजे, त्रिपुरा शाम 5:30 बजे
  • 24 नवंबर को ओडिशा 2:30 बजे, झारखंड शाम 5:30 बजे
  • 25 नवंबर को पंजाब दोपहर 2:30 बजे, पश्चिम बंगाल शाम 5:30 बजे
  • 26 नवंबर को आंध्र प्रदेश दोपहर 2:30 बजे, महाराष्ट्र शाम 5:30 बजे

ऐसे पहुंचे प्रगति मैदान

मेट्रो से आने वाले ब्लू लाइन मेट्रो के जरिए प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन पर उतर सकते हैं। प्रगति मैदान जाने के लिए मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन पर भी उतरकर पैदल जा सकते हैं। डीटीसी और क्लस्टर बसों का उपयोग करने वाले मथुरा रोड और भैरों रोड बस स्टॉप से व्यापार मेले में जा सकते हैं।

यहां होगी पार्किंग

  • भैरो मंदिर
  • चिड़ियाघर पार्किंग
  • नेशनल स्टेडियम
  • आइपी बस डिपो

दिल्ली मेरी यादें : तांगे से कनाट प्लेस घूमने का वो दौर...अब नहीं रही पहले जैसी रंगत


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.