नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत स्वामी दयानंद अस्पताल में सुंदरीकरण का कार्य शुरू किया गया है। यह स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 में भी उपयोगी साबित होगी। यहां दीवारों पर स्वतंत्रता सेनानियों और क्रांतिकारियों की तस्वीरें उकेरी जा रही हैं। साथ ही संदेशों के जरिये स्वच्छता का पाठ भी पढ़ाया जा रहा है। दरअसल, निगम हर वार्ड में स्वच्छता के लिए प्रयासरत है। ऐसे में निगम अधिकारियों ने अस्पताल को भी इसमें शामिल करने का मन बनाया।

अस्पताल में साफ-सफाई की व्यवस्था बेहतर है। इसलिए तय किया गया कि दीवारों को भी सुंदर बनाया जाए। आजादी का अमृत महोत्सव साल चल रहा है। ऐसे में स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीर लगाने पर विचार किया गया। अस्पताल प्रशासन ने इसके लिए मेट्रो वेस्ट कंपनी से बातचीत की।

यहां की टीम ने इसका जिम्मा उठाया। अब अस्पताल में घुसते ही दाईं ओर की दीवारें सुंदरीकरण की गवाही देने लगी हैं। इन दीवारों पर लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल, शहीद-ए-आजम भगत सिंह, रानी लक्ष्मीबाई, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद आदि महान विभूतियों की तस्वीरें बनाई गई हैं।

स्थायी समिति के अध्यक्ष बीर सिंह पंवार ने कहा कि स्वामी दयानंद अस्पताल निगम का सबसे बड़ा अस्पताल है। इसे सुंदर दिखना ही चाहिए। आजादी के अमृत महोत्सव की थीम पर आधारित सुंदरीकरण से हम अपने बलिदानियों को श्रद्धांजलि भी दे रहे हैं और स्वच्छता अभियान को भी आगे बढ़ा रहे हैं। इस वर्ष स्वच्छता रैंकिंग में पूर्वी निगम लंबी छलांग लगाएगा। पिछले साल पूर्वी निगम स्वच्छ सर्वेक्षण में 40वें स्थान पर था।

Edited By: Pradeep Chauhan