नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दो वर्ष बाद दिल्ली की 600 से अधिक रामलीलाओं के मंच गुलजार हो गए हैं। सोमवार को गणेश पूजन के साथ में रामलीला मंचन का शुभारंभ हो गया है। इसके साथ ही दिल्ली में भक्ति की धारा बहने लगी है। आयोजकों से लेकर कलाकारों और श्रद्धालुओं के चेहरे पर उल्लास व उमंग के साथ आस्था दिखाई दे रही है। इसके साथ ही यह भी चर्चा तेज हो गई है कि इस वर्ष दशहरे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दिल्ली की किस रामलीला में आएंगे और सांकेतिक तीर से रावण का वध कर देशवासियों को असत्य पर सत्य की विजय का संदेश देंगे। इसके लिए लालकिले की लवकुश, श्रीधार्मिक व नवश्री धार्मिक के साथ ही रामलीला मैदान की रामलीला समिति समेत अन्य ने प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को पत्र भेजा है। सभी ने अपने पत्र में पीएम से अपनी रामलीला आयोजन में आग्रह किया है, फिलहाल सभी आग्रह लंबित है।

पीएम मोदी कर चुके हैं शिरकत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीन बार दिल्ली की रामलीलाओं के मंच पर आए और दशहरा के अवसर पर रावण के साथ ही मेघनाथ व कुंभकरण का वध किया। कोरोना के ठीक पहले, वर्ष 2019 में वह द्वारका के सेक्टर-10 स्थित रामलीला में शामिल हुए थे। वर्ष 2014 में जब चमत्कृत प्रदर्शन से प्रधानमंत्री बने थे। तब बतौर प्रधानमंत्री दशहरा उत्सव में वे चांदनी चौक स्थित परेड ग्राउंड की श्रीधार्मिक रामलीला आयोजन में शामिल हुए थे। उस वक्त उनके साथ पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह व कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी भी शामिल हुए थीं। इसके बाद वर्ष 2016 में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की रामलीला में शामिल हुए थे। जबकि वर्ष 2018 में फिर वह दिल्ली के लालकिला स्थित लवकुश रामलीला के मंच से दशहरा उत्सव मनाया था।

पीएमओ से मंजूरी का इंतजार

ऐसा नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से दिल्ली की रामलीलाओं के दशहरा उत्सव में शामिल होने का क्रम जारी हुआ है। बल्कि यह सिलसिला पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू से शुरू होकर इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, मोरारजी देसाई व डा. मनमोहन सिंह तक चला आ रहा है। इस संबंध में नवश्री धार्मिक के मंत्री प्रकाश चंद बराठी ने बताया कि इस संबंध में दशहरा उत्सव के लिए प्रधानमंत्री को आग्रहपूर्वक पत्र भेजा गया है। लवकुश रामलीला के अध्यक्ष अर्जुन कुमार, श्रीधार्मिक लीला के प्रवक्ता रवि जैन व रामलीला मैदान लीला के चेयरमैन अजय अग्रवाल ने बताया कि उनकी समितियों की ओर से भी ऐसा आग्रह पीएमओ कार्यालय को गया हुआ है। अब वहां से मंजूरी का इंतजार है।

कब-कब दिल्ली में दशहरा उत्सव में शामिल हुए प्रधानमंत्री

वर्ष 2014- श्रीधार्मिक लीला, परेड ग्राउंड, चांदनी चौक

वर्ष 2018-लवकुश लीला कमेटी, लालकिला मैदान

वर्ष 2019 -द्वारका के सेक्टर-10 स्थित रामलीला मैदान

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट