Move to Jagran APP

Update Update: दिल्ली में आज दिनभर छाए रहेंगे बादल, गर्जन के साथ हल्की बरसात की संभावना; ऑरेंज अलर्ट जारी

राष्ट्रीय राजधानी में बाढ़ नियंत्रण विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार यमुना का जल स्तर जो सोमवार को खतरे के निशान 205.33 मीटर को पार कर गया था रात 11 बजे 206.04 मिमी दर्ज किया गया जिससे ऑरेंज अलर्ट जारी हो गया। बाढ़ बुलेटिन के मुताबिक रात 11 बजे ओल्ड रेलवे ब्रिज पर यमुना का जलस्तर 206.04 मिमी दर्ज किया गया।

By Jagran NewsEdited By: Narender SanwariyaPublished: Tue, 11 Jul 2023 05:30 AM (IST)Updated: Tue, 11 Jul 2023 05:50 AM (IST)
Update Update: दिल्ली में आज दिन भर छाए रहेंगे बादल, गर्जन के साथ हल्की बरसात की संभावना; ऑरेंज अलर्ट जारी

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। सोमवार को लगातार तीसरे दिन भी दिल्ली में वर्षा का दौर जारी रहा, लेकिन बीते दो दिनों की तुलना में काफी हल्का। जहां शनिवार और रविवार को 100 मिमी से भी अधिक वर्षा दर्ज हुई वहीं सोमवार को यह 10 मिमी तक भी नहीं पहुंची। मौसम विभाग का कहना है कि अब धीरे -धीरे वर्षा की तीव्रता कम होगी और अगले कई दिन हल्की वर्षा का ही दौर चलेगा।

loksabha election banner

इस दौरान तापमान में भी कुछ वृद्धि होगी। सोमवार को भी सुबह से ही बादल छाए थे। रुक रुककर दिन भर वर्षा भी होती रही। कभी हल्की और कभी तेज। सूरज के दर्शन नहीं के बराबर ही हुए। अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री कम 31.4 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 25.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। हवा में नमी का स्तर 100 से 91 रहा।

राष्ट्रीय राजधानी में बाढ़ नियंत्रण विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, यमुना का जल स्तर, जो सोमवार को खतरे के निशान 205.33 मीटर को पार कर गया था, रात 11 बजे 206.04 मिमी दर्ज किया गया, जिससे ऑरेंज अलर्ट जारी हो गया। बाढ़ बुलेटिन के मुताबिक, रात 11 बजे ओल्ड रेलवे ब्रिज पर यमुना का जलस्तर 206.04 मिमी दर्ज किया गया।

जहां तक वर्षा का सवाल है तो शाम साढ़े पांच बजे तक 2.9 मिमी रिकार्ड की गई। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि मंगलवार को भी दिन भर बादल छाए रहेंगे। गर्जन वाले बादलों के साथ हल्की से मध्यम स्तर की बरसात होने की संभावना है। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 31 एवं 25 डिग्री सेल्सियस रह सकता है।

स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष (मौसम विज्ञान व जलवायु परिवर्तन) महेश पलावत ने बताया कि मानसून की अक्षीय रेखा, जो भी तक दिल्ली के दक्षिण में थी, अब उत्तर में शिफ्ट हो रही है। पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव भी खत्म हो रहा है। इसीलिए यहां अब अगले चार पांच दिन वर्षा थोड़ी कम हो जाएगी। इस दौरान अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान में भी आंशिक वृद्धि होगी। 15 या 16 जुलाई से वर्षा थोड़ी बढ़ेगी, लेकिन तब भी उतनी नहीं होगी, जितनी कि पिछले दो दिनों में हुई है।

दिल्ली की हवा लगातार चल रही साफ

मौसम की मेहरबानी से राजधानी की हवा लगातार साफ ही बनी हुई है। सोमवार को भी दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स सिर्फ 65 रहा। इस स्तर की हवा को ''संतोषजनक'' श्रेणी में रखा जाता है। एक दिन पहले रविवार को यह 64 था। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले कई दिन वायु गुणवत्ता का स्तर इसके आसपास ही बना रहेगा।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.