नई दिल्ली/नोएडा, एएनआइ/जेएनएन। Pollution increase in Delhi and NCR: दिल्ली-एनसीआर की हवा लगातार सातवें दिन बुधवार को भी खराब है। दिल्ली के लोधी रोड इलाके में आज सुबह हवा की गुणवत्ता न्यूनतम 2.5 PM और अधिकतम 10 PM माफी गई। जबकि न्यूनतम एयर इंडेक्स 232 और अधितम 233 रहा। ये दोनों ही कटेगरी खराब गुणवत्ता की श्रेणी में आती है।

बताया जा रहा है कि दिवाली तक प्रदूषण में और इजाफा हो सकता है। वहीं दिल्ली-एनसीआर की हवा मंगलवार को भी खराब ही रही। गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में तो बहुत खराब हो गई। सोमवार की तुलना में मंगलवार को एयर इंडेक्स फिर बढ़ गया। सुबह और शाम के समय लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगी है।

नोएडा में प्रदूषण का स्तर और बढ़ा

दीपावली के नजदीक आते ही दिनों दिन नोएडा में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। मंगलवार की अपेक्षा नोएडा में बुधवार को प्रदूषण का स्तर और बढ़ गया। पहली बार इस सीजन में बहुत खराब स्थिति में प्रदूषण का स्तर पहुँचा है। नोएडा में बुधवार को एयर पॉल्यूशन लेवल एक्यूआई औसत रूप से 318 है, जबकि कल एक्यूआई नोएडा में खराब स्थिति में 297 था, जिसमें आज बढ़ोतरी देखी गई है।

नोएडा में फिलहाल सेक्टर 116 एरिया में प्रदूषण का स्तर सबसे अधिक है वहां एक्यूआई सबसे अधिक 326 के करीब है जबकि सेक्टर 62 स्थित आईएमडी की रिपोर्ट के अनुसार वहां आसपास के एरिया में एक्यूआई 319 है। लगातार बढ़ते प्रदूषण के स्तर को रोकना प्रशासन के लिए चुनौती बनता जा रहा है।

रुक नहीं रहा पराली जलाने का सिलसिला

इस बीच पंजाब, हरियाणा के साथ-साथ पाकिस्तान में भी पराली जलाने का सिलसिला जारी है। सफर (सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी, वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च) का पूर्वानुमान है कि अक्टूबर के चौथे सप्ताह में प्रदूषण बहुत खराब स्थिति में पहुंच सकता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार मंगलवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 270, फरीदाबाद का 293, नोएडा का 297 और गुरुग्राम का 240 था। इसे खराब श्रेणी में रखा जाता है।

गाजियाबाद में भी बढ़ा प्रदूषण

गाजियाबाद का एयर इंडेक्स 308 और ग्रेटर नोएडा का 302 रहा। इसे बहुत खराब श्रेणी में रखा जाता है। सफर के मुताबिक मंगलवार को दिल्ली के प्रदूषण में पराली का असर पांच फीसद तक रहा। हवा फिलहाल दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम दिशा से आ रही है। अगले दो दिनों के बीच वायु प्रदूषण का स्तर खराब श्रेणी के उच्च स्तर पर या बहुत खराब श्रेणी के शुरुआती स्तर तक रह सकता है। अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में तापमान कम होने पर प्रदूषण बढ़ना शुरू हो जाएगा। जानकारी के अनुसार, पराली के धुएं से प्रदूषण में इजाफा होने से लोगों को सांस लेने में परेशानी महसूस होने लगी है। अनुमान, लगाया जा रहा है कि आने वाले समय में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः INX Media Case: कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को ईडी ने पूछताछ के बाद किया गिरफ्तार

यह भी पढ़ेंः Weather Update: अगले 48 घंटे में दिल्ली में होगी बारिश, जानिए मौसम का ताजा हाल

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस