नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Police: दिल्ली पुलिस ने मेवात के कुख्यात अंतरराज्यीय लुटेरों के गिरोह के एक एक्टिव सदस्य को गिरफ्तार किया है। इसका नाम जावेद, जबीद और जब्बी है। इसी ने साल 2021 में पुलिस की टीम पर हमला किया था। उस समय पुलिस की टीम इनका पीछा कर रही थी। पीछा करने के दौरान ही इन लोगों ने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया था। पुलिस को उसी समय से इसकी तलाश थी मगर ये फरार चल रहा था। पुलिस ने अपनी टीम पर हमला किए जाने के मामले में जावेद को भगोड़ा घोषित कर दिया था।

पुलिस ने जावेद के पास से एक जिंदा कारतूस के साथ .32 की एक सेमी-ऑटोमैटिक पिस्टल बरामद किया है। आरोपी दिल्ली और हरियाणा में हत्या के प्रयास, लूट, चोरी, अपहरण, पुलिस पर हमला, चोट, साजिश, धमकी, हथियार अधिनियम सहित कुल 15 आपराधिक मामलों में शामिल रहा है।

स्पेशल सेल, सदर्न रेंज की एक टीम ने इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह और इंस्पेक्टर के नेतृत्व में जावेद को गिरफ्तार किया। एसीपी अत्तर सिंह की देखरेख में सतविंदर सिंह ने लुटेरों के कुख्यात मेवात स्थित गिरोह के फरार सदस्य जावेद निवासी हरियाणा को गिरफ्तार किया है। जावेद थाना खयाला क्षेत्र में 6 जून 2021 को पुलिस पर हमले के सनसनीखेज मामले का आरोपित है और तभी से फरार था।

कुछ दिन पहले स्पेशल सेल के अधिकारियों को जावेद के बारे में गुप्त सूचनाएं मिली थीं। सूचना मिलने के बाद टीम इस गिरोह के सदस्यों की गतिविधियों पर नजर रख रही थी। इनके बारे में और अधिक जानकारियां जुटाई जा रही थीं। दो महीने के लगातार प्रयास के बाद दिल्ली में जावेद के ठिकानों की पहचान की गई।

12 सितंबर 2022 को जावेद के एमबी रोड, दिल्ली में टी पॉइंट मंदिर मार्ग के पास अपने सहयोगी से मिलने के बारे में एक विशेष जानकारी प्राप्त हुई थी। इसी जानकारी के बाद इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह के नेतृत्व में एक टीम को तैयार किया गया। इसमें सतविंदर सिंह, एएसआई साजिद, एचसी हरविंदर, एचसी सचिन और एचसी मोहित को शामिल किया गया। टीम ने टी-पॉइंट के पास एक जाल बिछाया गया। इसी के बाद जावेद उर्फ ​​जाबिद को गिरफ्तार किया जा सका।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari